News Nation Logo
Banner

Gold Latest News: नए साल में 63,000 रुपये के भाव तक पहुंच सकता है सोने का भाव, जानकारों ने जताया अनुमान

Gold Latest News: अमेरिकी डॉलर में कमजोरी और नये प्रोत्साहन उपायों की उम्मीद के बीच 2021 में भी सोना 63,000 रुपये प्रति 10 ग्राम तक पहुंचने का अनुमान विशेषज्ञों ने व्यक्त किया है.

Written By : बिजनेस डेस्क | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 28 Dec 2020, 02:23:05 PM
Gold Latest News-सोना (Gold Rate Today 2021)

Gold Latest News: सोना (Gold Rate Today 2021) (Photo Credit: newsnation)

मुंबई :

Gold Latest News: सोना (Gold Rate Today 2021) हमेशा ही अनिश्चित समय में सुरक्षित निवेश माना गया है. यही वजह है कि कोरोना वायरस महामारी के अनिश्चित दौर में सोना (Live Hallmark Gold Rate) नई ऊंचाईयों पर पहुंचा. बहाहरल, अमेरिकी डॉलर में कमजोरी और नये प्रोत्साहन उपायों की उम्मीद के बीच 2021 में भी सोना 63,000 रुपये प्रति 10 ग्राम तक पहुंचने का अनुमान विशेषज्ञों ने व्यक्त किया है. वर्ष 2020 में कोरोना वायरस महामारी के चलते आर्थिक और सामाजिक अनिश्चितताओं के कारण सोना निवेश का एक सुरक्षित विकल्प बनकर उभरा. इस पीली धातु (Live Gold Price) की कीमत अगस्त में एमसीएक्स पर 56,191 रुपये प्रति 10 ग्राम और अंतरराष्ट्रीय बाजार में 2,075 डॉलर प्रति औंस तक पहुंच गई थी. 

यह भी पढ़ें: डिजिटल मोड के जरिए गोल्ड बॉन्ड खरीदने वालों को मिलेगा डिस्काउंट, जानिए कितना

वैश्विक मौद्रिक नीतियों में तेज बदलाव के तहत 2019 के मध्य में कम ब्याज दर और अभूतपूर्व तरलता का दौर शुरू हुआ, जिसने सोने की कीमत को बढ़ावा दिया और निवेशकों का रुझान इसकी ओर बढ़ता गया. कमट्रेंडज़ रिस्क मैनेजमेंट सर्विसेज के सीईओ ज्ञानशंकर त्यागराजन ने बताया कि इस साल की शुरुआत में सोने (1 Gram Sone Ka Bhav) की कीमत 39,100 रुपये प्रति 10 ग्राम और 1,517 अमरीकी डालर प्रति औंस के साथ हुई. महामारी को लेकर शुरुआती झटका अल्पकालिक रहा, और सोना 38,400 रुपये पर आ गया, लेकिन इस बाद यह धीरे धीरे बढ़ता हुआ 56,191 रुपये प्रति 10 ग्राम तक पहुंच गया.

यह भी पढ़ें: 2020 में सोने ने निवेशकों को किया मालामाल, जानिए कितना दिया रिटर्न

राहत पैकेज की वजह से मजबूत रहेगा सोना
उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस की वैक्सीन और आर्थिक सुधार की चर्चा के बाजवूद उम्मीद है कि ताजा प्रोत्साहनों के चलते सोना आगे भी तेज बना रहेगा. उन्होंने कहा कि ताजा प्रोत्साहनों की वजह से डॉलर कमजोर हो सकता है और इससे सोने की कीमतें एक बार फिर बढ़ सकती हैं। इसके अलावा बड़े पैमाने पर प्रोत्साहनों के कारण मुद्रास्फीति के दबावों के चलते निवेशकों के लिए सोना आकर्षक बना रहेगा. त्यागराजन ने कहा कि भारत और चीन से सोने की मांग 2021 में महत्वपूर्ण होगी, जो पिछले कुछ वर्षों से कमजोर है और इसमें एक बार फिर तेजी आ सकती है. उन्होंने कहा कि हमें उम्मीद है कि 2021 में कीमतें कम से कम 60,000 रुपये या 2,200 अमरीकी डालर के स्तर को छू लेंगी, बशर्ते रुपया भी स्थिर रहे.

यह भी पढ़ें: शेयर बाजार की चाल से निवेशक रहे हैरान-परेशान, यहां पढ़ें शेयर मार्केट से जुड़ी 2020 की बड़ी बातें

वैश्विक स्तर पर आर्थिक सुधार से जुड़ी चिंता भी है तेजी की वजह
एचडीएफसी सिक्योरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक (जिंस) तपन पटेल ने कहा कि वैश्विक स्तर पर आर्थिक सुधार से जुड़ी चिंताओं के कारण सोना अगले साल भी तेज बना रहेगा और इसकी कीमत कॉमैक्स पर 2,150-2,390 डॉलर प्रति औंस के बीच रह सकती है, जबकि एमसीएक्स पर सोना 57,000-63,000 रुपये के बीच रह सकता है. उन्होंने कहा कि आर्थिक गतिविधियों में पुनरूत्थान की धीमी रफ्तार, श्रम बाजार की वृद्धि भी कमजोर रहने के साथ ही बड़ी मात्रों में प्रोत्साहन उपायों से सोने के दाम लगातार मजबूती में बने रहेंगे.

यह भी पढ़ें: कोरोना से जुड़ी पॉलिसी की पहुंच बढ़ाने के लिए IRDAI ने उठाए ये बड़े कदम

पटेल ने कहा कि 2020 में सोने के दाम को डालर के मुकाबले रुपये में गिरावट से अतिरिक्त समर्थन मिला. पिछले एक साल के दौरान हाजिर रुपया करीब तीन प्रतिशत नीचे रहा है. इसके अलावा वर्ष की पहली छमाही में अमेरिका के शेयर बाजार में गिरावट और वास्तविक प्राप्ति में गिरने से निवेशक डालर से बाहर निकल गये जिसका लाभ सोने में निवेश को मिला. (इनपुट भाषा)

First Published : 28 Dec 2020, 02:19:41 PM

For all the Latest Business News, Gold-Silver News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.