News Nation Logo
Banner

ब्याज दरों में बढ़ोतरी को लेकर Fed चेयरमैन जेरोम पॉवेल ने दिया ये बड़ा बयान

अमेरिकी फेडरल रिजर्व (US Federal Reserve) के अध्यक्ष जेरोम पॉवेल (Jerome Powell) ने कहा कि अर्थव्यवस्था के फिर से खुलने और विभिन्न कारकों के कारण बहुत मजबूत मांग और कमजोर आपूर्ति का एक आदर्श तूफान है.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 24 Jun 2021, 07:28:40 AM
US Federal Reserve Chairman Jerome Powell

US Federal Reserve Chairman Jerome Powell (Photo Credit: IANS )

highlights

  • जेरोम पॉवेल ने सदन के समक्ष सुनवाई के दौरान सांसदों से कहा कि हम पहले से ब्याज दरें नहीं बढ़ाएंगे
  • मुद्रास्फीति 2021 के अंत तक बढ़कर 3 प्रतिशत, अगले 2 वर्ष में घटकर 2.1 प्रतिशत हो जाने की उम्मीद

वाशिंगटन:  

अमेरिकी फेडरल रिजर्व (US Federal Reserve) के अध्यक्ष जेरोम पॉवेल (Jerome Powell) ने कहा कि केंद्रीय बैंक मुद्रास्फीति की आशंकाओं के आधार पर ब्याज दरों में अग्रिम रूप से वृद्धि नहीं करेगा. हाल ही में मुद्रास्फीति में बढ़ोतरी अस्थायी है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, पॉवेल ने सदन के समक्ष सुनवाई के दौरान सांसदों से कहा कि हम पहले से ब्याज दरें नहीं बढ़ाएंगे क्योंकि हमें लगता है कि रोजगार बहुत ज्यादा है, क्योंकि हमें मुद्रास्फीति की संभावित शुरूआत का डर है. इसके बजाय, हम वास्तविक मुद्रास्फीति या अन्य असंतुलन के वास्तविक साक्ष्य का इंतजार करेंगे. पॉवेल ने कहा कि मुद्रास्फीति में हालिया वृद्धि का एक बड़ा हिस्सा उन श्रेणियों से आता है जो अर्थव्यवस्था के फिर से खुलने से सीधे प्रभावित होती हैं, जैसे कि इस्तेमाल की गई कारें और ट्रक.

यह भी पढ़ें: NCLT या राष्ट्रीय कंपनी कानून न्यायाधिकरण क्या है और कैसे काम करता है? जानिए यहां

महंगाई 2021 के अंत तक बढ़कर 3 प्रतिशत रहने का अनुमान
उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था के फिर से खुलने और विभिन्न कारकों के कारण बहुत मजबूत मांग और कमजोर आपूर्ति का एक आदर्श तूफान है. हाल की कीमतों में वृद्धि व्यापक रूप से तंग अर्थव्यवस्था की बात न करें. उन्होंने कहा कि मैं कहूंगा कि ये प्रभाव हमारी अपेक्षा से बड़े रहे हैं और वे हमारी अपेक्षा से अधिक स्थायी हो सकते हैं, लेकिन आने वाले डेटा इस दृष्टिकोण से बहुत अधिक संगत हैं कि ये ऐसे कारक हैं जो समय के साथ कम हो जाएंगे और मुद्रास्फीति फिर हमारे लक्ष्यों की ओर बढ़ेगी. पिछले सप्ताह जारी फेड के नवीनतम आर्थिक अनुमानों के अनुसार, कोर व्यक्तिगत उपभोग व्यय मूल्य सूचकांक, फेड का पसंदीदा मुद्रास्फीति उपाय, 2021 के अंत तक बढ़कर 3 प्रतिशत और अगले दो वर्षों में घटकर 2.1 प्रतिशत हो जाने की उम्मीद है.

यह भी पढ़ें: फ्लैश सेल को लेकर सरकार की ओर से आया ये बड़ा बयान, ई-कॉमर्स कंपनियों को चिंता करने की जरूरत नहीं

पॉवेल ने कहा कि बेशक हम अपने उपकरणों का उचित उपयोग करने के लिए तैयार हैं, मुद्रास्फीति को 2 प्रतिशत तक ले जाने के लिए अगर ऐसा नहीं होता है, तो आप जानते हैं. फेड प्रमुख ने यह भी दोहराया कि केंद्रीय बैंक का इरादा रोजगार बाजार की 'व्यापक और समावेशी' वसूली को प्रोत्साहित करना है. पॉवेल ने कहा कि हम केवल बेरोजगारी के लिए हेडलाइन नंबर नहीं देखेंगे, हम बेरोजगारी के सभी प्रकार के उपायों को देखेंगे, जिसमें विभिन्न समूहों, जातीय समूहों, लिंग समूहों और इस तरह की चीजों के लिए बेरोजगारी और रोजगार शामिल हैं. -इनपुट आईएएनएस

First Published : 24 Jun 2021, 07:27:30 AM

For all the Latest Business News, Economy News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.