News Nation Logo
Banner

एयर इंडिया को आधिकारिक तौर पर टाटा को सौंपने से पहले टाटा संस के चेयरमैन ने पीएम मोदी से की मुलाकात

एयर इंडिया को आधिकारिक तौर पर टाटा को सौंपने से पहले टाटा संस के चेयरमैन ने पीएम मोदी से की मुलाकात

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 27 Jan 2022, 05:05:01 PM
Tata Son

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली:   टाटा संस के चेयरमैन एन. चंद्रशेखरन, जो पूरे टाटा समूह को नियंत्रित करते हैं, ने गुरुवार को दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। टाटा समूह को आधिकारिक तौर पर एयर इंडिया सौंपने के बीच टाटा संस के चेयरमैन ने प्रधानमंत्री से मुलाकात की है।

टाटा संस के चेयरमैन ने 8 अक्टूबर, 2021 को टाटा समूह द्वारा बोली जीतने के बाद एयर इंडिया के आधिकारिक हैंडओवर (सौंपने) से पहले प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की है।

बता दें कि 69 सालों के बाद फिर से एयर इंडिया की कमान टाटा समूह को सौंप दी गई है।

टाटा ने 18,000 करोड़ रुपये की बोली जीती और 69 साल बाद एयर इंडिया को वापस ले लिया। नीलामी की प्रक्रिया में पिछले साल अक्टूबर में हुई थी और एयर इंडिया के लिए सर्वाधिक बोली लगाकर टैलेस प्राइवेट लिमिटेड ने इसे अपने नाम किया। टैलेस प्राइवेट लिमिटेड टाटा ग्रुप की ही कंपनी है।

इसके साथ ही एयर इंडिया अब भारत सरकार का उद्यम नहीं रह गई है और एक निजी संस्था बन गई है।

एयर इंडिया की ओर से टाटा संस की विमानन सहायक कंपनी टैलेस को बैलेंस शीट सौंपने के बाद यह बैठक हुई है, जो एयर इंडिया, एयर एक्सप्रेस और एयर इंडिया की ग्राउंड हैंडलिंग सेवा का प्रबंधन करेगी। टाटा समूह के अधिकारियों ने बैलेंस शीट की समीक्षा की और 24 जनवरी तक किसी भी सुधार के लिए भी विकल्प है। उसके बाद भारत सरकार एयर इंडिया, एयर एक्सप्रेस और इसकी ग्राउंड हैंडलिंग सेवा टाटा समूह को सौंप देगी और इसके साथ 100 प्रतिशत सरकारी पीएसयू का एयर इंडिया में विनिवेश पूरा हो जाएगा।

टाटा समूह ने पहले ही 27 जनवरी से एयर इंडिया की चार उड़ानों, अर्थात एआई864 मुंबई-दिल्ली, एआई687 मुंबई-दिल्ली, एआई945 मुंबई-अबू धाबी और एआई639 मुंबई-बेंगलुरु में उन्नत भोजन सेवा की घोषणा की है। अन्य उड़ानों और मार्गों में चरणबद्ध तरीके से इसका विस्तार किया जाएगा।

इसके साथ ही, टाटा समूह प्रबंधन द्वारा केबिन क्रू की अच्छे से तैयारी का सुझाव पहले ही दिया जा चुका है, क्योंकि उनका कहना है कि चालक दल के सदस्य एयरलाइंस के ब्रांड एंबेसडर हैं। इसके अलावा उड़ान घोषणाओं में यात्रियों को अतिथि के रूप में संबोधित किया जाएगा और रतन टाटा का एक रिकॉर्डेड संदेश प्रत्येक उड़ान में चलाया जाएगा। लेकिन एयर इंडिया को लेकर टाटा की पहली और सबसे महत्वपूर्ण प्राथमिकता ऑन टाइम शेड्यूल पर काम करना है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 27 Jan 2022, 05:05:01 PM

For all the Latest Business News, Economy News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.