News Nation Logo

स्पाइसजेट को क्यूआईपी के जरिए 2.5 हजार करोड़ रुपये जुटाने के लिए शेयरधारकों की मिली मंजूरी

स्पाइसजेट को क्यूआईपी के जरिए 2.5 हजार करोड़ रुपये जुटाने के लिए शेयरधारकों की मिली मंजूरी

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 21 Sep 2021, 03:35:01 PM
SpiceJet receive

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: बजट एयरलाइन स्पाइसजेट को क्यूआईपी के तहत शेयर जारी करके 2,500 करोड़ रुपये जुटाने के लिए शेयरधारकों की मंजूरी मिली है।

वित्तीय भाषा में, उपयुक्त सिक्योरिटीज को धन जुटाने के लिए एक क्वोलीफाइड इंस्टीट्यूशन्स प्लेसमेंट या क्यूआईपी के माध्यम से जारी किया जाता है।

इसके अलावा, शेयरधारकों ने कंपनी के कार्गो और लॉजिस्टिक्स सेवाओं के कारोबार को उसकी सहायक कंपनी, स्पाइसएक्सप्रेस एंड लॉजिस्टिक्स प्राइवेट लिमिटेड (स्पाइसएक्सप्रेस) को 2,555.77 करोड़ रुपये मूल्य की मंदी के आधार पर स्थानांतरित करने के लिए अपनी सहमति दी।

इसके अनुसार, मंदी की बिक्री के लिए स्पाइसएक्सप्रेस द्वारा स्पाइसजेट के पक्ष में अपने शेयर जारी करके निर्वहन किया जाएगा।

लॉजिस्टिक्स व्यवसाय के हस्तांतरण से स्पाइसजेट को 2,555.77 करोड़ रुपये का एकमुश्त लाभ मिलेगा, जिससे कंपनी के नकारात्मक नेट वर्थ का एक बड़ा हिस्सा समाप्त हो जाएगा।

30 जून, 2021 तक स्पाइसजेट की निगेटिव नेटवर्थ 3,300 करोड़ रुपये थी।

इसके अलावा, कंपनी ने कहा कि प्रस्तावित स्थानांतरण, अलग और उन्नत प्रबंधन फोकस के साथ, स्पाइसएक्सप्रेस व्यवसाय के लिए दीर्घकालिक विकास योजनाओं और रणनीतियों को आगे बढ़ाने में अधिक अवसर और लचीलापन प्रदान करेगा।

स्पाइसजेट के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक अजय सिंह ने कहा, स्पाइसएक्सप्रेस को लॉजिस्टिक्स व्यवसाय के हस्तांतरण से स्पाइसजेट की नकारात्मक नेट वर्थ 2,555.77 करोड़ रुपये कम हो जाएगी और हमारी बैलेंस शीट काफी मजबूत होगी।

लॉजिस्टिक्स व्यवसाय के हस्तांतरण के बाद, नई कंपनी अपने विकास को निधि देने के लिए स्पाइसजेट से स्वतंत्र रूप से पूंजी जुटाने में सक्षम होगी। यह सुनिश्चित करने के लिए कि हमारी दीर्घकालिक विकास योजनाएं बरकरार रहें हमें क्यूआईपी के माध्यम से धन जुटाने के लिए शेयरधारक की मंजूरी भी मिली है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 21 Sep 2021, 03:35:01 PM

For all the Latest Business News, Economy News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो