News Nation Logo

IRDA के फैसले के खिलाफ कोर्ट जाएगी सहारा, ICICI Pru को सौंपा था इंश्योरेंस कारोबार

सहारा समूह ने जानकारी दी है कि वह देश की शीर्ष बीमा नियामक IRDA के फैसले के खिलाफ अदालत का दरवाजा खटखटाएगी, जिसमें सहारा इंडिया लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड के सभी बीमा निवेशों को ICICI Pru को कारोबार सौंपने की बात कही है।

IANS | Edited By : Shivani Bansal | Updated on: 31 Jul 2017, 07:52:16 AM
सुब्रत रॉय, चेयरमेन, सहारा (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

सहारा समूह ने जानकारी दी है कि वह देश की शीर्ष बीमा नियामक 'भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण' (आईआरडीएआई) के उस फैसले के खिलाफ अदालत का दरवाजा खटखटाएगी, जिसमें सहारा इंडिया लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड के सभी बीमा निवेशों को आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड को हस्तांतरित करने का आदेश दिया गया है। 

सहारा समूह की ओर से जारी वक्तव्य में कहा गया है, 'सहारा आईआरडीएआई के इस फैसले के खिलाफ अदालत में याचिका दाखिल करेगी।' स्टेटमेंट में कहा गया है, 'आईआरडीएआई ने किस वजह से प्रशासक की नियुक्ति की वही जानते हैं और तथाकथित प्रशासक ने गोपनीय तरीके से अपनी रिपोर्ट आईआरडीएआई को सौंप दी, जिसमें सहारा लाइफ का सारा कारोबार किसी अन्य कंपनी को हस्तांतरित करने के लिए कहा गया है।'

सिक्योरिटी डिपॉजिट के नाम पर सहारा इंश्योरेंस ने किया 78 करोड़ का गबन: IRDAI

सहारा के अनुसार, 'यहां तक कि प्रशासक की रिपोर्ट की एक भी प्रति सहारा लाइफ को नहीं दी गई और न ही किसी तीसरी कंपनी को सारा कारोबार हस्तांतरित करने से संबंधित आदेश जारी करने से पहले किसी तरह की सुनवाई का मौक दिया गया। कंपनी ने कभी भी किसी निवेशक के खिलाफ किसी तरह का अहितकारी कार्य भी नहीं किया।'

आईआरडीएआई के सहारा इंडिया लाइफ से 78 करोड़ रुपये बेइमानी से निकालने के आरोप पर सहारा समूह ने कहा, 'वास्तव में यह राशि सहारा समूह की एक अन्य कंपनी सहारा इंडिया में प्रतिभूति राशि के तौर पर जमा रखी गयी थी।'

सहारा समूह के मुताबिक, यह व्यवस्था सहारा इंडिया लाइफ के लिए बेहद लाभदायक है, जबकि आईआरडीएआई इसका अविवेवकपूर्ण मतलब निकाल रही है।

कारोबार से जुड़ी ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

First Published : 31 Jul 2017, 07:42:41 AM

For all the Latest Business News, Economy News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

Sahara IRDA ICICI Subarat Roy