News Nation Logo
Banner

जुलाई में खुदरा बिक्री महामारी से पहले के स्तर का 72 प्रतिशत रही

जुलाई में खुदरा बिक्री महामारी से पहले के स्तर का 72 प्रतिशत रही

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 17 Aug 2021, 02:50:01 PM
Retail ale

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: कई राज्यों में लॉकडाउन के धीरे-धीरे हटने के साथ, भारत में खुदरा बिक्री में सुधार हुआ है और जुलाई 2021 में, यह जुलाई 2019 के महामारी से पहले के स्तर के 72 प्रतिशत पर पहुंच गई है।

रिटेलर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (आरएआई) के एक हालिया सर्वे में यह दावा किया गया है।

जून में, खुदरा बिक्री पूर्व-महामारी के स्तर का 50 प्रतिशत थी।

एक बयान में, खुदरा विक्रेताओं के निकाय ने उल्लेख किया कि भारत के दक्षिणी हिस्से में खुदरा व्यवसायों ने जुलाई 2021 में पूर्व-महामारी के स्तर के 82 प्रतिशत की बिक्री के साथ बहुत तेज वापसी का संकेत दिया है।

पश्चिमी क्षेत्र में अभी सुधार होना बाकी है और इसने पूर्व-महामारी के 57 प्रतिशत स्तर पर बिक्री का संकेत दिया है।

सर्वे के बाद जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि यह मुख्य रूप से महाराष्ट्र में लंबे समय तक प्रतिबंध के कारण है, जिसने राज्य में आधुनिक खुदरा के सुचारू कामकाज को बाधित किया है।

श्रेणियों में, क्विक सर्विस रेस्टोरेंट्स (क्यूएसआर) ने जुलाई 2021 में महामारी से पहले के स्तर (जुलाई 2019) के 97 प्रतिशत की बिक्री के साथ सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है।

हालांकि, ब्यूटी एंड वेलनेस सेगमेंट, जिसमें सैलून शामिल हैं, अभी भी महामारी से पहले की बिक्री का 50 प्रतिशत हासिल कर पाया है, जबकि परिधान जुलाई 2021 में पूर्व-महामारी के स्तर की 63 प्रतिशत बिक्री पर है।

रिटेलर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (आरएआई) के सीईओ कुमार राजगोपालन ने भारत में खुदरा उद्योग के ²ष्टिकोण के बारे में बात करते हुए कहा, त्योहारों के मौसम के रूप में खुदरा व्यवसायों के लिए महत्वपूर्ण बिक्री में रिकवरी की संभावना है, बशर्ते देश भर में आधुनिक रिटेल पर प्रतिबंधों में ढील दी जाए और सुचारू संचालन और सामान्य स्थिति में लौटने की अनुमति दी जाए।

उद्योग निकाय ने उल्लेख किया कि खुदरा रोजगार सृजन के मामले में सबसे तेजी से बढ़ने वाला क्षेत्र है और अप्रत्यक्ष रोजगार के अवसर पैदा करने के अलावा कृषि के बाद दूसरे स्थान पर है।

रिटेल के खुलने से व्यवसायों को रिकवरी का मौका मिलेगा, जिससे रिटेल इकोसिस्टम पर निर्भर लाखों लोगों की आजीविका बचेगी।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 17 Aug 2021, 02:50:01 PM

For all the Latest Business News, Economy News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.