News Nation Logo

वित्त वर्ष 2023 की पहली तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज ने रिकॉर्ड समेकित राजस्व 2.42 लाख करोड़ रुपये दर्ज किया

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 23 Jul 2022, 01:20:01 AM
Reliance File

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली:   रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) ने वित्त वर्ष 2023 की पहली तिमाही में रिकॉर्ड समेकित राजस्व 2.42 लाख करोड़ रुपये (30.8 अरब डॉलर) दर्ज किया, जो वर्ष दर वर्ष आधार पर 53 प्रतिशत अधिक है।

रिलायंस ने रिकॉर्ड तिमाही समेकित ईबिआईटीडीए को 40,179 करोड़ रुपये (5.1 बिलियन डॉलर) पर पोस्ट किया, जो कि सालाना 45.8 प्रतिशत और प्रोफिट बीफॉर टैक्स (पीबीटी) का सबसे अधिक तिमाही समेकित लाभ 27,236 करोड़ रुपये (3.4 बिलियन डॉलर) था, जो कि सालाना 57.7 प्रतिशत अधिक था।

तिमाही के लिए समेकित शुद्ध लाभ रु. 19,443 करोड़ (2.5 बिलियन डॉलर) था, जो 40.8 प्रतिशत अधिक था।

तिमाही के लिए ईपीएस 26.6 रुपये प्रति शेयर था जो 42.7 फीसदी बढ़ा। तिमाही के लिए रिलायंस का निर्यात 96,212 करोड़ रुपये (12.2 अरब डॉलर) था, जो 71.3 प्रतिशत अधिक था।

30 जून, 2022 को समाप्त तिमाही के लिए आरआईएल का पूंजीगत व्यय (विनिमय दर अंतर सहित) 31,434 करोड़ रुपए (4.0 अरब डॉलर) था।

तिमाही के लिए जियो प्लेटफॉर्म्स का ईबिआईटीडीए 11,424 करोड़ रुपये (1.4 बिलियन डॉलर), 28.5 प्रतिशत की वृद्धि और तिमाही के लिए शुद्ध लाभ 4,530 करोड़ रुपये (574 मिलियन डॉलर) था, जो 24.1 प्रतिशत की वृद्धि थी।

रिलायंस जियो के एआरपीयू ने तिमाही के दौरान 175.7 रुपये प्रति माह की दर से सालाना आधार पर 26.9 प्रतिशत की वृद्धि और क्यूओक्यू आधार पर 4.8 प्रतिशत की वृद्धि देखी, जो टैरिफ वृद्धि और एफटीटीएच से योगदान के अवशिष्ट प्रभाव से प्रेरित थी।

रिलायंस जियो नेट के ग्राहकों की संख्या में 9.7 मिलियन की मजबूती देखी गई, जो 30 जून को 419.9 मिलियन के कुल ग्राहक आधार के साथ 35.2 मिलियन की सकल वृद्धि से प्रेरित थी।

रिलायंस जियो का औसत डेटा और वॉयस खपत प्रति उपयोगकर्ता प्रति माह बढ़कर क्रमश: 20.8 जीबी और 1,001 मिनट हो गया।

जियो ने जुड़े हुए घरों में और तेजी के साथ एफटीटीएच सेवाओं में अपनी अग्रणी स्थिति का विस्तार करना जारी रखा। जियो के पास अब 7 मिलियन कनेक्टेड परिसर हैं।

तिमाही के लिए रिलायंस रिटेल का सकल राजस्व 58,554 करोड़ रुपये (7.4 बिलियन डॉलर) था, जो 51.9 प्रतिशत अधिक था। तिमाही के लिए रिलायंस रिटेल का ईबिआईटीडीए 3,837 करोड़ रुपये (486 मिलियन डॉलर) था, जो 97.7 प्रतिशत अधिक था। तिमाही के लिए रिलायंस रिटेल का शुद्ध लाभ 2,061 करोड़ रुपये (261 मिलियन डॉलर) था, जो 114.2 प्रतिशत अधिक था।

रिलायंस रिटेल ने कोविड की शुरूआत के बाद से बिना किसी परिचालन व्यवधान के अपनी पहली तिमाही देखी और ग्राहकों की संख्या पूर्व-कोविड स्तरों को पार कर गई क्योंकि उपभोक्ताओं ने दुकानों में वापसी की और 200 मिलियन पंजीकृत ग्राहकों का एक माइलस्टोन पार किया।

तिमाही के अंत में पंजीकृत ग्राहक आधार वर्ष-दर-वर्ष 29 प्रतिशत बढ़कर 208 मिलियन हो गया। रिलायंस रिटेल ने तिमाही में 720 स्टोर खोले, जिससे देश के सभी कोनों को कवर करते हुए 43.2 मिलियन वर्ग फुट के क्षेत्र में कुल 15,916 स्टोर हो गए।

रिलायंस रिटेल ने तिमाही के दौरान 79 वेयरहाउसिंग और फुलफिलमेंट स्थानों को जोड़कर 3.3 मिलियन वर्ग फुट जगह के साथ अपनी आपूर्ति श्रृंखला क्षमताओं को बढ़ाया।

रिलायंस रिटेल डिजिटल कॉमर्स के दैनिक ऑर्डर सालाना आधार पर 66 फीसदी और नए कॉमर्स मर्चेंट बेस पिछले साल की तुलना में 3 गुना अधिक थे। रिलायंस रिटेल ने तिमाही के दौरान 17,000 से अधिक नौकरियों को जोड़ा, और कर्मचारियों की कुल संख्या 3.79 लाख है।

रिलायंस ओ2सी का सर्वकालिक उच्च राजस्व और ईबिआईटीडीए के साथ अब तक का सबसे अच्छा तिमाही प्रदर्शन था। मुख्य रूप से कच्चे तेल और उत्पाद की कीमतों में वृद्धि के कारण खंड राजस्व 56.7 प्रतिशत बढ़कर 1.61 लाख करोड़ रुपये हो गया।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 23 Jul 2022, 01:20:01 AM

For all the Latest Business News, Economy News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.