News Nation Logo
Banner

ज्यादातर अस्पतालों को वित्तवर्ष 2022 में दोहरे अंकों में राजस्व बढ़ने की उम्मीद

ज्यादातर अस्पतालों को वित्तवर्ष 2022 में दोहरे अंकों में राजस्व बढ़ने की उम्मीद

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 01 Sep 2021, 06:20:01 PM
Mot hopital

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

मुंबई: भारत में सक्रिय मामलों के अनुरूप वित्तवर्ष 2022 की पहली तिमाही के दौरान अस्पताल क्षेत्र में कोविड-19 के मरीजों की संख्या में तेजी देखी गई, जो मई 2021 में अब तक के उच्चतम स्तर को छू गया था और पहली लहर में 4 गुना से अधिक के शिखर पर पहुंच गया था।

समग्र अधिभोग स्तरों को कोविड रोगियों के लिए लंबे समय तक रहने की औसत लंबाई का समर्थन किया गया था, यहां तक कि स्थानीय लॉकडाउन के परिणामस्वरूप गैर-कोविड व्यवसायों में एक निश्चित सीमा तक क्रमिक गिरावट आई थी।

आईसीआरए की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि आईसीआरए नमूना सेट के लिए कोविड और गैर-कोविड दोनों रोगियों का मिश्रित अधिभोग वित्तवर्ष 2022 की पहली तिमाही में 64.2 प्रतिशत (वित्तवर्ष 2021 की पहली तिमाही में 36.9 प्रतिशत और चौथी तिमाही में 58.8 प्रतिशत के मुकाबले) अधिक रहने की उम्मीद है।

अधिकांश मल्टी-स्पेशियलिटी अस्पतालों ने अपने वित्तवर्ष 2022 की पहली तिमाही का 25-30 प्रतिशत हिस्सा और राजस्व कोविड-19 उपचार और टीकाकरण अभियान से प्राप्त किया। जबकि आईसीआरए नमूना सेट के लिए वित्तवर्ष 2022 की पहली तिमाही में 129 प्रतिशत की साल-दर-साल राजस्व वृद्धि वैकल्पिक रूप से निम्न आधार से उच्च सहायता प्राप्त थी, तिमाही-दर-तिमाही राजस्व वृद्धि भी 15 प्रतिशत पर थी।

हालांकि, कोविड उपचारों से राजस्व के उच्च हिस्से के परिणामस्वरूप वित्तवर्ष 2022 की पहली तिमाही में औसत राजस्व प्रति कब्जे वाले बिस्तर (एआरपीओबी) में 4.2 प्रतिशत तिमाही-दर-तिमाही संकुचन रहेगा, यहां तक कि संक्रमण की जटिल प्रकृति और महत्वपूर्ण देखभाल उपचार और ऑक्सीजन सहायता की जरूरत वाले रोगियों के उच्च अनुपात के रूप में भी एआरपीओबी में सालाना आधार पर 8.7 प्रतिशत की वृद्धि की संभावना है।

टीकाकरण अभियान और कोविड परीक्षणों से वृद्धिशील राजस्व और मार्जिन के अलावा परिचालन उत्तोलन लाभ के परिणामस्वरूप आईसीआरए नमूने के लिए ओपीएम में वित्तवर्ष 2022 की पहली तिमाही में 19.3 प्रतिशत (2021 की पहली तिमाही में माइनस 9.3 प्रतिशत और 2021 की चौथी तिमाही में 18.4 प्रतिशत के मुकाबले) में सुधार की उम्मीद है।

इक्रा के असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट और सेक्टर हेड, मैत्री माचेरला कहते हैं, जबकि कोविड 2.0 के कारण इन-पेशेंट (आईपीडी) और आउट-पेशेंट (ओपीडी) दोनों फुटफॉल में वित्तवर्ष 2022 में क्रमिक रूप से गिरावट आएगी, जो फुटफॉल वित्तवर्ष 2021 की पहली तिमाही की तुलना में कहीं अधिक है, जिसमें राष्ट्रव्यापी तालाबंदी के कारण अस्पताल के संचालन पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा। अधिकांश अस्पतालों ने वित्तवर्ष 2022 की पहली तिमाही के स्तर की तुलना में जुलाई और अगस्त 2021 में क्रमिक रूप से उच्च फुटफॉल देखा है।

ऑन-ग्राउंड भावनाओं का आकलन करने और वित्तवर्ष 2022 के लिए दृष्टिकोण को समझने के लिए, आईसीआरए ने अपनी रेटेड अस्पताल संस्थाओं का एक सर्वेक्षण किया। प्रमुख निष्कर्ष बताते हैं कि वित्तवर्ष 2022 में मजबूत प्रदर्शन और ऐच्छिक की मांग में वृद्धि से अपेक्षित लाभ की उम्मीद है। सर्वेक्षण के उत्तरदाताओं में से 2/3 से अधिक ने वित्तवर्ष 2022 में राजस्व में दोहरे अंकों की वृद्धि की उम्मीद की है।

भारत सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक ने इस क्षेत्र को समर्थन देने के लिए कई उपाय किए हैं, जिसमें ऑन-टैप लिक्विडिटी विंडो, समर्पित ईसीएलजीएस क्रेडिट लाइन आदि शामिल हैं, जो उद्योग के खिलाड़ियों की तरलता का समर्थन कर सकते हैं।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 01 Sep 2021, 06:20:01 PM

For all the Latest Business News, Economy News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो