News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

प्रमुख दक्षिण कोरियाई ट्रैवल एजेंसियों को महामारी से उबरने की उम्मीद

प्रमुख दक्षिण कोरियाई ट्रैवल एजेंसियों को महामारी से उबरने की उम्मीद

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 18 Oct 2021, 03:25:01 PM
Major SKorean

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

सियोल: प्रमुख दक्षिण कोरियाई ट्रैवल एजेंसियों के कोरोना महामारी के लंबे समय से चले आ रहे प्रभाव से उबरने और 2022 में विदेशी यात्रा की बढ़ती मांग के कारण फायदे की ओर बढ़ने की उम्मीद है। ये जानकारी एक मार्केट ट्रैकर ने सोमवार को दी।

वित्तीय सूचना प्रदाता एफएनगाइड के अनुसार, स्थानीय ब्रोकरेज हाउसों ने अनुमान लगाया कि उद्योग के नेता हनाटूर आने वाले वर्ष में 3.9 अरब वॉन (3.3 करोड़ डॉलर) की समेकित परिचालन आय दर्ज कर सकते हैं, जो पिछले साल जीते गए 114.9 अरब वॉन के ऑपरेटिंग नुकसान से एक बड़ा बदलाव है।

योनहाप न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, अकेले इस वर्ष की पहली छमाही में, हनाटूर ने 65.6 अरब वोन का परिचालन घाटा दर्ज किया। कंपनी ने 2019 में कोरोना के प्रकोप से पहले 5.9 अरब वॉन की परिचालन आय अर्जित की।

रनर-अप मोड टूर भी अगले साल जीते गए 200 करोड़ की परिचालन आय रिकॉर्ड करने का अनुमान है, जबकि इस वर्ष की पहली छमाही में 10.5 अरब वॉन के ऑपरेटिंग नुकसान हुआ।

येलो बैलून टूर कंपनी को अगले साल जीते गए 9.7 अरब की परिचालन आय अर्जित करने का अनुमान लगाया गया है, जबकि इसकी पहली छमाही में 6.4 अरब का नुकसान हुआ है।

स्थानीय टूर एजेंसियों के लिए पॉजिटिव दृष्टिकोण तेजी से बढ़ते कोरोनावायरस टीकाकरण दरों और अन्य देशों के साथ सियोल के ट्रैवल बबल समझौतों के कारण विदेशी यात्राओं की बढ़ती मांग के बीच आया है।

दुनिया भर के प्रमुख पर्यटन स्थल उच्च टीकाकरण दरों की रिपोर्ट कर रहे हैं और दक्षिण कोरिया कई देशों के साथ यात्रा बबल समझौते पर हस्ताक्षर करने पर जोर दे रहा है।

इसके अलावा अगले महीने कोविड -19 के साथ रहने की योजना की तैयारी के लिए सियोल का कदम भी जरूरी है, जिसमें वायरस को मौसमी इन्फ्लूएंजा की तरह एक संक्रामक श्वसन रोग के रूप में माना जाएगा।

हालांकि, एफएनगाइड ने कहा कि उन ट्रैवल कंपनियों की बिक्री और कमाई को पूर्व-महामारी के स्तर पर लौटने में अधिक समय लगेगा।

स्थानीय टूर ऑपरेटरों को कोविड -19 के वैश्विक प्रसार ने क्षति पहुंचाई है, जिसके कराण प्रमुख देशों में लॉकडाउन के बाद यात्रा की मांग में गिरावट आई है।

उद्योग के एक सूत्र ने कहा कि स्थानीय ट्रैवल कंपनियां 2002 में गंभीर तीव्र श्वसन सिंड्रोम (सार्स) के प्रकोप और मध्य पूर्व रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (मर्स) के प्रकोप से त्रस्त रही थीं।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 18 Oct 2021, 03:25:01 PM

For all the Latest Business News, Economy News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.