News Nation Logo

एलआईसी आईपीओ खातिर कानूनी सलाहकार, लीड मैनेजर के लिए बोलियां आमंत्रित

एलआईसी आईपीओ खातिर कानूनी सलाहकार, लीड मैनेजर के लिए बोलियां आमंत्रित

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 16 Jul 2021, 12:45:01 AM
Life Inurance

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: केंद्र ने एलआईसी के मेगा इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग (आईपीओ) के लिए बुक रनिंग लीड मैनेजर्स (बीआरएलएम), कानूनी सलाहकार और रजिस्ट्रार और शेयर ट्रांसफर एजेंट (आरटीए) के लिए बोलियां आमंत्रित की हैं।

निवेश और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग ने भी एक विज्ञापन एजेंसी के लिए बोलियां आमंत्रित की हैं।

बीआरएलएम और आरटीए के लिए बोली जमा करना 15 जुलाई से शुरू होता है और 5 अगस्त को समाप्त होता है। दूसरी ओर, कानूनी सलाहकार और विज्ञापन एजेंसी के लिए बोली जमा करना 15 जुलाई से शुरू होता है, लेकिन 6 अगस्त को समाप्त होता है।

आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीईए) द्वारा इस महीने की शुरुआत में आईपीओ को सैद्धांतिक मंजूरी दिए जाने के बाद यह घटनाक्रम सामने आया है।

एक शीर्ष आधिकारिक सूत्र ने आईएएनएस को बताया कि सीसीईए ने 7 जुलाई को अपनी बैठक में देश के सबसे बड़े आईपीओ के लिए कई बाधाओं को दूर करते हुए दीपम द्वारा अंतिम रूप दिए गए आईपीओ के लिए फिर से तैयार योजना को मंजूरी दी।

अधिकारी ने कहा, हमने ऑफर के लिए रास्ता भी तय किया है और निवेशकों को बीमाकर्ता से कैसे जोड़ा जाना चाहिए। इसके साथ ही आईपीओ के लिए रास्ता साफ हो गया है कि किसी भी मामले में हम वित्तवर्ष 22 के लिए योजना बना रहे थे।

उच्च पदस्थ सूत्र ने आगे आईएएनएस को बताया कि अब वैकल्पिक तंत्र (एएम) या मंत्रियों का समूह पेशकश किए जाने वाले शेयरों की मात्रा और समय पर फैसला करेगा। इस मुद्दे के लिए प्रबंधकों की नियुक्ति भी अनुसरण करेगी।

वित्त विधेयक 2021 के तहत प्रस्तावित संशोधनों के अनुसार, एलआईसी की अधिकृत शेयर पूंजी 25,000 करोड़ रुपये होगी, जिसे प्रत्येक 10 रुपये के 2,500 करोड़ शेयरों में विभाजित किया जाएगा।

पूंजी बाजार नियामक सेबी ने भी एलआईसी आईपीओ का मार्ग प्रशस्त करने के लिए न्यूनतम सार्वजनिक पेशकश मानदंडों में ढील दी है।

फरवरी में, भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) के बोर्ड ने नियमों में बदलाव की सिफारिश करने का फैसला किया है, और जारी करने के बाद बाजार पूंजी 1 लाख करोड़ रुपये से अधिक के लिए, न्यूनतम सार्वजनिक पेशकश (एमपीओ) की आवश्यकता को कम कर दिया जाएगा। इश्यू के बाद की बाजार पूंजी का 10 प्रतिशत 10,000 करोड़ रुपये के साथ-साथ 1 लाख करोड़ रुपये से अधिक की वृद्धिशील राशि का 5 प्रतिशत।

सरकार को इस साल दिवाली के आसपास आईपीओ लाए जाने की उम्मीद है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 16 Jul 2021, 12:45:01 AM

For all the Latest Business News, Economy News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो