logo-image

India Canada Relations: रिश्ते बिगड़े तो कनाडा को उठाना होगा अरबों डॉलर का नुकसान

India Canada Relations: पिछले कुछ सालों में ही भारत और कनाडा का द्विपक्षीय व्यापार तेजी के साथ बढ़ा है और यह 2022-23 में बढ़कर 8.16 अरब डॉलर तक पहुंच गया है. दोनों देशों के इस आपसी व्यापार में भारत कनाडा को 4.1 अरब डॉलर का निर्यात करता है

Updated on: 22 Sep 2023, 09:56 AM

New Delhi:

India Canada Relations:  भारत और कनाडा के बीच तनाव कम होने का नाम नहीं ले रहा है. कनाडा में जहां एक भारतीय राजनयिक को निष्कासित कर दिया गया है, वहीं भारत ने भी कनाड़ा के एक डिप्लोमेट को बाहर का रास्ता दिखा दिया है और पांच दिनों के भीतर देश छोड़ने का आदेश दिया है. ऐसे में दोनों देशों के बीच बिगड़ते रिश्तों का असर व्यापार पर भी पड़ने की आशंका जताई जा रही है. हालांकि दो देशों के बीच व्यवसायिक संबंध बिल्कुल अलग तरह के होते हैं और उनपर रणनीतिक 
उठापटक और दूसरे विवादों को उतना प्रभाव नहीं पड़ता. लेकिन मौजूदा स्थिति को देखते हुए कुछ भी कहना मुश्किल है. ऐसे में अगर दोनों देशों के रिश्ते बिगड़ते हैं और उसका असर व्यापार पर पड़ता है तो किसको कितना नुकसान होगा आज हम इस पर बात करेंगे-

कनाडा में 14 लाख भारतीय मूल के लोग

2021 की जनगणना के अनुसार कनाडा में भारतीय मूल के लगभग 14 लाख लोग रह रहे हैं. इन 14 लाख लोगों में आधी आबादी सिखों की है. इसके साथ ही कनाडा की राजनीति में सिखों का अच्छा खासा दखल है. यही वजह है कि कनाडाई प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो सिखों को नाराज नहीं करना चाहते और भारत के साथ अपने रिश्तों को दांव पर लगा रहे हैं. 

भारतीय छात्रों से कनाडा को हजारों डॉलर की आय

एक रिपोर्ट के अनुसार पिछले साल यानी 2022 में कनाडा में कुल पांच लाख वैश्विक छात्र पहुंचे थे, जिसमें से  2 लाख 26 हजार 450 छात्र अकेले भारत से थे. इस हिसाब से कनाडा पहुंचने वाली कुछ वैश्विक छात्रों में भारतीय छात्रों की हिस्सेदारी 41 प्रतिशत थी. वैश्विक छात्र कनाडा की अर्थव्यवस्था में हर साल करीब 30 अरब डॉलर डालते हैं. जाहिर हैं इसमें सबसे बड़ा योगदान भारतीय छात्रों का है. ऐसे में अगर दोनों देशों के रिश्ते खराब होते हैं तो भारत सरकार अपने छात्रों के कनाडा जाने पर रोक लगा सकती है. अगर ऐसा हुआ तो कनाडा की अर्थव्यवस्था को बड़ा झटका लग सकता है.

दोनों देशों के बीच 8.16 अरब डॉलर का कारोबार

पिछले कुछ सालों में ही भारत और कनाडा का द्विपक्षीय व्यापार तेजी के साथ बढ़ा है और यह 2022-23 में बढ़कर 8.16 अरब डॉलर तक पहुंच गया है. दोनों देशों के इस आपसी व्यापार में भारत कनाडा को 4.1 अरब डॉलर का निर्यात करता है और कनाडा से 4.06 अरब डॉलर का आयात करता है. कनाडा के पेंशन फंड में भारत की तरफ से 45 अरब डॉलर का इंवेस्टमेंट किया गया है.  ऐसे में अगर दोनों देशों के संबंध बिगड़ते हैं तो ज्यादा नुकसान भी कनाडा को ही उठाना पड़ेगा. 

कौन कितनी बड़ी अर्थव्यवस्था

आपको बता दें कि कनाडा की जीडीपी 2.2 ट्रिलियन डॉलर की है. जबकि 3.75 ट्रिलियन डॉलर है. कनाडा विश्व की नौवीं अर्थव्यवस्था तो भारत का स्थान पांचवां है. भारत कनाड़ा को दवा और स्टील जैसी चीजें निर्यात करता है और कनाडा से दाल, कृषि सामान और दूसरी चीजें खरीदता है.