News Nation Logo

एचपी इडिया के एमडी आईसीईए पैनल का करेंगे नेतृत्व, आईटी मैनुफैक्च रिंग को मिलेगा बढ़ावा

एचपी इडिया के एमडी आईसीईए पैनल का करेंगे नेतृत्व, आईटी मैनुफैक्च रिंग को मिलेगा बढ़ावा

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 21 Jul 2021, 05:10:01 PM
HP India

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: सरकार ने आईटी हार्डवेयर मैनुफैक्च रिंग को दोगुना करने का लक्ष्य रखा है। इसके लिए इंडियन सेल्युलर एंड इलेक्ट्रॉनिक एसोसिएशन ( आईसीईए) ने बुधवार को एक उच्चस्तरीय कमिटी बनाने की घोषणा की है। यह कमिटी भारत में आईटी हार्डवेयर के एक्यपोर्ट को बढ़ावा देने का काम करगी। इस कमिटी का नेतृत्व एचपी इंडिया के एमडी केतन पटेल कर रहे हैं।

एचपी इंडिया के प्रबंध निदेशक केतन पटेल की अध्यक्षता में पैनल, 2026 तक भारत में विश्व स्तर पर प्रतिस्पर्धी आईटी हार्डवेयर घटक, भागों और डिजाइन पारिस्थितिकी तंत्र के निर्माण के लिए महत्वपूर्ण निवेश सुनिश्चित करने के लिए एक रोडमैप तैयार करेगा।

पटेल के अनुसार, पीसी और टैबलेट का बाजार वैश्विक स्तर पर लगभग 230 बिलियन डॉलर का है। भारत में एक स्थायी विनिर्माण के लिए सस्टेनेबल मैन्युफैक्चिरिंग का आधार बनाना आवश्यक है।

उन्होंने कहा, मैं रोजगार, जीडीपी में योगदान और संभावित वैल्यू एडिशन के संबंध में डिजायर्ड परिणामों के साथ अगले पांच वर्षों के लिए एक ठोस आईटी विनिर्माण रोडमैप तैयार करना चाहता हूं।

उन्होंने कहा कि सरकार के साथ उनकी बातचीत इस दिशा में अत्यधिक उत्साहजनक रही है।

इस महीने की शुरूआत में, इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय ने देश में आईटी हार्डवेयर निर्माण के लिए उत्पादन-लिंक्ड प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना के तहत 14 आवेदकों का चयन किया। प्रोत्साहन योजना के तहत चुने गए प्रमुख अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी डेल, विस्ट्रॉन, राइजिंग स्टार्स हाई-टेक (फॉक्सकॉन) और फ्लेक्सट्रॉनिक्स हैं।

इस योजना के तहत चुनी गई घरेलू कंपनियों में लावा इंटरनेशनल लिमिटेड, डिक्सन टेक्नोलॉजीज (इंडिया) लिमिटेड, इंफोपावर टेक्नोलॉजीज (सहस्रा और एमआईटीएसी का संयुक्त उद्यम), भगवती (माइक्रोमैक्स) नियोलिन्क, ऑप्टिमस, नेटवेब, स्माइल इलेक्ट्रॉनिक्स, वीवीडीएन और पनाचे डिजिलाइफ शामिल हैं।

आईसीईए के चेयरमैन पंकज मोहिंद्रू ने कहा कि डेल, ऐप्पल, विस्ट्रॉन, फॉक्स, फॉक्सकॉन और उनकी इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्च रिंग सर्विसेज (ईएमएस) कंपनियों जैसे वैश्विक ब्रांडों के साथ अपनी पूरी क्षमता को अनलॉक करने के लिए आईटी मैन्युफैक्च रिंग विजन को फिर से तैयार करने के तरीके खोजने के लिए गहन विचार-विमर्श कर रहा है।

आईसीईए अध्यक्ष पंकज ने कहा, दुनिया की शीर्ष ईएमएस कंपनियां पहले से ही भारत में हैं। और भारतीय कंपनियां भी प्रमुख वैश्विक ओईएम के लिए इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पाद बनाना सीख रही हैं। आईसीईए में, हम सरकार के साथ साझेदारी में भारत को इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण के लिए अगला वैश्विक केंद्र बनाने के लिए ²ढ़ हैं।

आईटी हार्डवेयर के लिए पीएलआई योजना, जिसे 3 मार्च को अधिसूचित किया गया था। भारत में निर्मित लक्ष्य खंडों के तहत माल की इंक्रीमेंटल बिक्री (वित्त वर्ष 2020 के आधार वर्ष से अधिक) पर 4 प्रतिशत से 2 प्रतिशत / 1 प्रतिशत की प्रोत्साहन राशि का विस्तार किया गया है, जो भारत में एलिजिबल कंपनियों के लिए चार साल की अवधि के लिए निर्मित होते हैं।

आईसीईए द्वारा आईटी हार्डवेयर समिति में एचपी, डेल, लावा, फॉक्सकॉन, विस्ट्रॉन और फ्लेक्स जैसी शक्तिशाली ब्रांड और ईएमएस कंपनियां शामिल हैं।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 21 Jul 2021, 05:10:01 PM

For all the Latest Business News, Economy News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो