News Nation Logo

ओपीईसी ने दी चेतावनी, जीवाश्म ईंधन में निवेश रोकना गलत सोच

ओपीईसी ने दी चेतावनी, जीवाश्म ईंधन में निवेश रोकना गलत सोच

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 29 Sep 2021, 04:35:01 PM
Halting invetment

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: अल जजीरा ने बताया कि ओपेक के नवीनतम विश्व तेल आउटलुक ने चेतावनी दी है कि जीवाश्म ईंधन में निवेश करने में विफलता से भू-राजनीतिक अस्थिरता का खतरा हो सकता है।

पेट्रोलियम निर्यातक देशों के संगठन (ओपेक) के प्रमुख ने कहा कि हरित ऊर्जा में परिवर्तन के लिए वैश्विक प्रतिबद्धताओं के बावजूद जीवाश्म ईंधन में नए निवेश को रोकना गलत है। उन्होंने चेतावनी दी है कि आने वाले वर्षों में तेल की मांग में तेजी जारी रहेगी क्योंकि अर्थव्यवस्था में उछाल आएगा।

ओपीईसी अगले साल पूर्व-महामारी के स्तर पर तेल की मांग को वापस देख रहा है, और 2023 में प्रति दिन 1.7 मिलियन बैरल (बीपीडी) की वृद्धि जारी रखता है।

वियना में ओपीईसी मुख्यालय में कार्टेल के वार्षिक विश्व तेल आउटलुक को प्रस्तुत करते हुए, महासचिव मोहम्मद बरकिंडो ने चेतावनी दी कि बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए धन महत्वपूर्ण है।

बरकिंडो कहा कि यदि आवश्यक निवेश पूरा नहीं किया जाता है, तो इसका नकारात्मक प्रभाव न केवल उत्पादकों के लिए, बल्कि उपभोक्ताओं के लिए भी दीर्घकालिक परेशानी खड़ी करेगा।

पिछले साल वैश्विक तेल मांग में 9.3 मिलियन बीपीडी की भारी गिरावट के बाद से कोरोनोवायरस महामारी ने वैश्विक व्यापार गतिविधि को कुचल दिया था। अब धीरे धीरे तेल बाजार अपने मोजो को फिर से हासिल कर रहे है, क्योंकि अर्थव्यवस्थाएं ठीक हो रही हैं।

वैश्विक बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड मंगलवार को 80 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर चढ़ गया, जो तीन साल में इसका उच्चतम स्तर है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि ऊर्जा की कीमतों में तेज बढ़ोतरी से वैश्विक अर्थव्यवस्था प्रभावित हो रही है, जिससे उत्पादकों की लागत अधिक हो रही है, जो अक्सर उपभोक्ताओं को दी जाती है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 29 Sep 2021, 04:35:01 PM

For all the Latest Business News, Economy News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.