News Nation Logo
Banner

कोरोना वायरस का असर: मूडीज (Moody's) ने G-20 देशों में भारी आर्थिक मंदी का अनुमान जताया

कोरोना वायरस का असर: मूडीज (Moody's) ने अनुमान जताया है कि जी-20 समूह देशों का सब मिलाकर सकल घरेलू उत्पाद 2020 में 0.5 प्रतिशत घटेगी.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 26 Mar 2020, 12:00:27 PM
Moodys

मूडीज (Moody's) (Photo Credit: फाइल फोटो)

पेरिस:

वैश्विक रेटिंग एजेंसी (Credit Rating Agency) मूडीज (Moody's) ने कोरोना वायरस (Coronavirus) संकट के चलते बुधवार को जी-20 समूह (G-20) देशों में इस साल मंदी (Slowdown) आने का अनुमान जताया है. मूडीज ने अनुमान जताया है कि जी-20 समूह देशों का सब मिलाकर सकल घरेलू उत्पाद 2020 में 0.5 प्रतिशत घटेगी. इसमें अमेरिकी अर्थव्यवस्था में दो प्रतिशत और यूरोजोन (यूरो को मुद्रा के तौर पर अपनाने वाले देश) की अर्थव्यवस्था में 2.2 प्रतिशत का सिकुड़न होगा. हालांकि कोरोना वायरस का प्रमुख केंद्र होने के बावजूद उसकी अर्थव्यवस्था का 3.3 प्रतिशत विस्तार होने की संभावना है.

यह भी पढ़ें: अमेरिका में इतिहास के अबतक के सबसे बड़े राहत पैकेज को मिली मंजूरी, रकम सुनकर दंग रह जाएंगे

कोरोना वायर से भारत में इन सेक्टर्स पर पड़ेगा सबसे ज्यादा असर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को रोकने के लिए मंगलवार को अभूतपूर्व कदम उठाते हुए पूरे देश में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा कर दी. यह लॉकडाउन 14 अप्रैल तक चलेगा. देशभर में लागू लॉकडाउन के दौरान आवश्यक वस्तुओं के अतिरिक्त अन्य सभी सेवाओं के ऊपर रोक लगा दी गई है. एक जगह से दूसरी जगह आने-जाने और कारोबार भी काफी हद तक बंद हैं. ऐसे में आने वाला समय भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian Economy) के लिए काफी परेशानी वाला हो सकता है.

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस: लॉकडाउन की वजह से खेतों में खड़ी फसल ने किसानों की बढ़ाई चिंता

भारत की जीडीपी ग्रोथ में भारी गिरावट का अनुमान

मोदी सरकार द्वारा लॉकडाउन के फैसले से भारत की जीडीपी ग्रोथ में भारी गिरावट का अनुमान लगाया जाने लगा है. बता दें कि अंतर्राष्ट्रीय रेटिंग एजेंसी स्टैंडर्ड एंड पुअर्स ने अपने ताजा अनुमान में वित्त वर्ष 2020-21 के लिए भारत की जीडीपी ग्रोथ (GDP Growth) रेट के अनुमान को घटाकर 5.2 फीसदी कर दिया है. इससे पहले स्टैंडर्ड एंड पुअर्स ने 6.5 फीसदी जीडीपी ग्रोथ रेट रहने का अनुमान जारी किया था. वहीं वित्त वर्ष 2021-22 के लिए भी एजेंसी ने जीडीपी ग्रोथ रेट के अनुमान को घटाकर 6.9 फीसदी कर दिया है. (इनपुट भाषा)

First Published : 26 Mar 2020, 12:00:27 PM

For all the Latest Business News, Economy News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×