News Nation Logo

डीजल की बढ़ती कीमतों के कारण, तेलंगाना बढ़ा सकता है बस किराया

डीजल की बढ़ती कीमतों के कारण, तेलंगाना बढ़ा सकता है बस किराया

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 07 Nov 2021, 04:35:01 PM
Citing riing

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

हैदराबाद:   तेलंगाना राज्य सड़क परिवहन निगम (टीएसआरटीसी) डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी और लगातार घाटे को देखते हुए बस किराए में 25-30 पैसे प्रति किलोमीटर की बढ़ोतरी करने जा रहा है।

बस किराए में संशोधन के प्रस्ताव पर रविवार को परिवहन मंत्री पी. अजय कुमार ने टीएसआरटीसी के अध्यक्ष बाजीरेड्डी गोवर्धन के प्रबंध निदेशक वीसी सज्जनार और अन्य अधिकारियों के साथ चर्चा की।

इस प्रस्ताव पर फैसला मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव करेंगे। इस प्रस्ताव को राज्य मंत्रिमंडल की अगली बैठक में पेश किए जाने की संभावना है।

गोवर्धन ने संवाददाताओं से कहा कि टीएसआरटीसी ने पहले ही किराया बढ़ाने का प्रस्ताव मंत्री को सौंप दिया था, लेकिन डीजल की कीमतों में पिछले हफ्ते की गिरावट को देखते हुए अब इसमें संशोधन किया गया है।

केंद्र द्वारा उत्पाद शुल्क में कटौती के बाद डीजल और पेट्रोल की कीमत में क्रमश: 10 रुपये और 5 रुपये प्रति लीटर की कमी की गई।

टीएसआरटीसी के अध्यक्ष ने कहा कि संशोधित प्रस्ताव तैयार करते हुए उन्होंने यह सुनिश्चित किया कि आम आदमी पर महंगाई का बोझ न पड़े।

गोवर्धन ने कहा कि उन्होंने पड़ोसी राज्यों से प्रभावित वृद्धि को ध्यान में रखते हुए प्रस्तावित किराया वृद्धि पर चर्चा की लेकिन आश्वासन दिया कि टीएसआरटीसी किराए में वृद्धि बहुत बड़ी नहीं होगी और बढ़ोतरी के बाद भी टीएसआरटीसी घाटे में रहेगी।

टीएसआरटीसी के सूत्रों के मुताबिक, पल्ले वेलुगु (ग्रामीण) सेवाओं के लिए किराया 25 पैसे प्रति किमी और एक्सप्रेस और उच्च सेवाओं के लिए 30 पैसे प्रति किमी बढ़ाने का प्रस्ताव है। शहर की सेवाओं के लिए भी इसी तरह की बढ़ोतरी की संभावना है।

पहले प्रस्ताव में किराया 40 पैसे प्रति किलोमीटर बढ़ाने का था।

राज्य के स्वामित्व वाले परिवहन ऑपरेटर के अधिकारियों का कहना है कि हाल के महीनों में डीजल की कीमतों में भारी वृद्धि को अवशोषित करने और निरंतर घाटे को दूर करने के लिए वृद्धि अपरिहार्य थी।

पिछले महीने मुख्यमंत्री के साथ बैठक के दौरान, अधिकारियों ने सीएम को बताया कि पिछले डेढ़ साल में डीजल की कीमत में 22 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि हुई है, इसलिए टीएसआरटीसी को 550 करोड़ रुपये का अतिरिक्त नुकसान उठाना पड़ा। उन्होंने कहा कि डीजल और पेट्रोल की कीमतों में वृद्धि के साथ-साथ टायर, ट्यूब और बसों के अन्य स्पेयर पार्ट्स की कीमतों में वृद्धि भी आरटीसी को घाटे में धकेल रही है। उन्होंने कहा कि इन सभी बढ़ी हुई लागतों से निगम पर 600 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ पड़ रहा है।

टीएसआरटीसी को सालाना 750 करोड़ रुपये से 1,000 करोड़ रुपये का घाटा हो रहा है। पिछले साल कोरोना महामारी फैलने के बाद से इसे 3,000 करोड़ रुपये का नुकसान होने का अनुमान है।

पिछली बार किराए में बढ़ोतरी दिसंबर 2019 में हुई थी। किराए में 20 पैसे प्रति किमी की वृद्धि की गई थी।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 07 Nov 2021, 04:35:01 PM

For all the Latest Business News, Economy News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.