News Nation Logo
Banner

अब इस रास्ते भारत में बड़ी तेजी से घुसपैठ कर रहा है चीन, जानें क्या है मामला

भारत और चीन के बीच कारोबार काफी समय से हो रहा है और दोनों देश फिलहाल कारोबारी रिश्तों में मजबूती की संभावना तलाश रहे हैं. राजनीतिक और अंतर्राष्ट्रीय विवादों के बावजूद भारत के कई क्षेत्रों में चीन की दखलअंदाजी बढ़ी है.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 13 Jun 2019, 01:31:24 PM
भारत में चीन का निवेश बढ़ा

भारत में चीन का निवेश बढ़ा

highlights

  • ऑटोमोबाइल, धातु, पावर और रियल एस्टेट सेक्टर में चीन का निवेश: FICCI 
  • कंज्यूमर ड्यूरेबल्स, इलेक्ट्रॉनिक्स, फार्मा और स्टील सेक्टर में निवेश बढ़ाने की योजना
  • देश के कई प्रोजेक्ट्स में चीन ने हजारों करोड़ रुपये निवेश की तैयारी कर ली है

नई दिल्ली:

भारत में चीन बड़ी तेजी से घुसपैठ कर रहा है. दरअसल, भारत में चीन लगातार निवेश बढ़ा रहा है. ऐसे में जानकार भारत में चीन के बढ़ रहे निवेश को लेकर सशंकित हैं. बता दें कि चीन ने भारत में ही नहीं पूरे दक्षिण एशिया में भी निवेश बढ़ा दिया है. मौजूदा समय में भारत में कई कंपनियों में चीन का पैसा लगा हुआ है.

यह भी पढ़ें: अपनी आदतों में सिर्फ थोड़ा सा कर लें बदलाव, बन जाएंगे धनवान (Rich)

भारत ने कई मौकों पर इसको लेकर चिंता भी जाहिर की है. भारत और चीन के बीच कारोबार काफी समय से हो रहा है और दोनों देश फिलहाल कारोबारी रिश्तों में मजबूती की संभावना तलाश रहे हैं. राजनीतिक और अंतर्राष्ट्रीय विवादों के बावजूद भारत के कई क्षेत्रों में चीन की दखलअंदाजी बढ़ी है.

यह भी पढ़ें: कंगाल पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के इस कदम से मच सकता है हड़कंप

ऑटोमोबाइल, धातु, पावर और रियल एस्टेट में निवेश
FICCI की एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में चीन ने ऑटोमोबाइल सेक्टर में 40 फीसदी, धातु उद्योग में 17 फीसदी, पावर सेक्टर में 7 फीसदी, रियल एस्टेट में 5 फीसदी का निवेश किया है. इसके अलावा सर्विस सेक्टर में 4 फीसदी का निवेश भी है. वहीं दूसरी ओर कंज्यूमर ड्यूरेबल्स, इलेक्ट्रॉनिक्स, फार्मा और स्टील सेक्टर में भी चीन ने निवेश बढ़ाने की तैयारी कर ली है.

यह भी पढ़ें: टीडीएस (TDS) कट गया है, तो परेशान ना हों, चेक करने के लिए ये है पूरा प्रोसेस

इन भारतीय कंपनियों में है निवेश
ई-कॉमर्स कंपनी पेटीएम (PayTM) में चीन की ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा ने पैसा लगाया जो अब बढ़कर 4,300 करोड़ रुपये से ज़्यादा हो गया है. हाइक मैसेजेंर (Hike) में टेंसेंट होल्डिंग्स और ताइवान की फॉक्सकॉन टेक्नोलॉजी समूह ने 9,700 करोड़ रुपये से ज़्यादा पैसा लगाया है. स्नैपडील (Snap Deal) में सॉफ्टबैंक ने निवेश किया हुआ है. ओला, मेकमाय ट्रिप (makeMytrip), फ्लिपकार्ट में भी चीन का निवेश है.

यह भी पढ़ें: बजट से पहले वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) की बैंकर्स के साथ आज बैठक

चीन के बड़े प्रोजेक्ट्स
चीन की कंपनी हाएर (Haier) ने ग्रेटर नोएडा में नए प्लांट में 3 हजार करोड़ रुपये इनवेस्टमेंट किया है. चीन की कंपनी मिडिया ने भी बिजली से चलने वाले उत्पाद बनाने के लिए 1,300 करोड़ रुपये निवेश किया है. चीन ने आंध्र प्रदेश के श्री सिटी में भी निवेश की योजना बनाई है. गुजरात के हालोल, कच्छ और कर्नाटक के बैंगलूरु, में क्रमश: ऑटो, स्टील और रियल स्टेट से जुड़े प्रोजेक्ट्स में भी चीन की कंपनियां निवेश करने जा रही हैं.

First Published : 13 Jun 2019, 01:31:24 PM

For all the Latest Business News, Economy News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.