News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

कुछ वेबसाइटों पर प्रकाशित आरपीएफ भर्ती सूचना फर्जी : रेलवे

कुछ वेबसाइटों पर प्रकाशित आरपीएफ भर्ती सूचना फर्जी : रेलवे

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 10 Jan 2022, 08:25:01 PM
Anu Menon

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: भारतीय रेलवे ने कॉन्स्टेबल भर्ती के लिए वायरल हो रही खबरों को फर्जी करार दिया है। खबरों में ये दावा किया गया था कि कुछ वेबसाइटों ने एक नोटिस प्रकाशित किया है, जिसमें आरपीएफ कांस्टेबल भर्ती 2022 परीक्षा के माध्यम से भर्ती हो रही है। जबकि आरपीएफ द्वारा ऐसी कोई भर्ती सूचना प्रकाशित नहीं की गई है।

रेलवे ने कहा है कि कुछ वेबसाइटों ने फेक नोटिस प्रकाशित किया था। जबकि आरपीएफ द्वारा ऐसी कोई भर्ती सूचना प्रकाशित नहीं की गई है कि सीआरपीएफ और रेलवे सुरक्षा विशेष बल (आरपीएसएफ) आरपीएफ कॉन्स्टेबल भर्ती 2022 परीक्षा के माध्यम से पुरुष और महिला पुलिस अधिकारियों की भर्ती की जा रही है। इस नोटिस में दावा किया जा रहा है कि, आरपीएफ में कॉन्स्टेबल के पदों पर जल्द भर्ती प्रक्रिया शुरू होगी।

इस फेक वैकेंसी में कहा जा रहा है कि, रेल मंत्रालय आरपीएफ कॉन्स्टेबलल भर्ती 2021 - 2022 के संबंध में अधिसूचना जल्द ही जारी करेगा। पद के लिए अनुमानित रिक्तियां पुरुष और महिला दोनों उम्मीदवारों के लिए लगभग 9000 से 11000 हैं। जिसके लिए भारतीय रेलवे की आधिकरिक बेबसाइट पर आवेदन करने को कहा गया है।

गौरतलब है कि आरपीएफ रेल यात्रियों और संपत्ति की सुरक्षा के लिए रेल मंत्रालय द्वारा स्थापित एक विशेष सुरक्षा बल है। इसके लिए आखिरी बार 2018 में भर्ती की गई थी। उस समय के अनुमान के अनुसार आरपीएफ में लगभग 65,000 कर्मचारी हैं। आरपीएफ की स्थापना 1957 में हुई थी और यह भारतीय राष्ट्रीय अर्धसैनिक बल का हिस्सा है। ये सुरक्षा बल खतरनाक परिस्थितियों में भारतीय रेलवे की रक्षा करते हैं। आरपीएफ एक बड़ा संगठन है जो रेल यात्रियों को व्यापक सुरक्षा प्रदान करता है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 10 Jan 2022, 08:25:01 PM

For all the Latest Business News, Economy News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.