News Nation Logo
Banner

आम आदमी को झटका, बारिश की वजह से सब्जियों की सप्लाई घटी, आसमान पर पहुंची कीमतें

थोक सब्जी कारोबारियों ने बताया कि टमाटर की नई फसल की आवक शुरू होने से दाम में थोड़ी नरमी आई है, जबकि बरसात के कारण अन्य फसलों की आवक कम हो रही है.

IANS | Updated on: 10 Aug 2020, 08:31:54 AM
Vegetables

सब्जियां (Vegetables) (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

देश के विभिन्न हिस्सों में भारी बारिश और बाढ़ के कारण हरी सब्जियों (Vegetables) की किल्लत हो गई है, जिससे सब्जियों की कीमतें आसमान छू गई हैं. दिल्ली-एनसीआर में फूलगोभी 120 रुपये किलो तो परवल 60-70 रुपये किलो बिक रहा है. टमाटर (Latest Tomato News) के दाम में बीते एक सप्ताह से थोड़ी नरमी आई है, फिर भी देश की राजधानी दिल्ली में टमाटर 50 से 60 रुपये प्रति किलो मिल रहा है. आलू का भाव लगातार बढ़ता जा रहा है. फुटकर सब्जी विक्रेता बताते हैं कि थोक मंडियों से भी ऊंचे भाव पर सब्जियां आ रही हैं. ग्रेटर नोएडा के सब्जी विक्रेता पप्पू कुमार ने बताया कि मंडियों में आवक कम होने की वजह से भाव तेज है.

यह भी पढ़ें: Gold Price Today: सोने-चांदी में आज उठापटक की आशंका, देखें बेहतरीन ट्रेडिंग कॉल्स  

बारिश की वजह से आवक में कमी
थोक सब्जी कारोबारियों ने बताया कि टमाटर की नई फसल की आवक शुरू होने से दाम में थोड़ी नरमी आई है, जबकि बरसात के कारण अन्य फसलों की आवक कम हो रही है. सब्जी उत्पादक किसान चंद्रपाल ने बताया कि खेतों में पानी खड़ा होने से फसल खराब हो हो रही है, जिससे पैदावार पर असर पड़ा है। उन्होंने बताया कि तोरई, भिंडी, घीया और लोबिया की पैदावार कम हो गई है. दिल्ली की आजादपुर मंडी में शुक्रवार को आलू का थोक भाव 12 रुपये से लेकर 26 रुपये प्रति किलो था जबकि दो महीने पहले आठ जून को मंडी में आलू का थोक भाव 8 से 22 रुपये प्रति किलो था। प्याज का थोक भाव भी आठ जून को जहां तीन रुपये से 10 रुपये प्रति किलो था वहीं दो दिन पहले को बढ़कर पांच से 12.50 रुपये प्रति किलो हो गया. वहीं, टमाटर का थोक भाव आठ जून को 1.25 से 5.75 रुपये प्रति किलो था जो शुक्रवार को बढ़कर आठ रुपये 38 रुपये प्रति किलो हो गया.

यह भी पढ़ें: सेंसेक्स की शीर्ष 10 में छह कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 74,240 करोड़ बढ़ा

आजादपुर मंडी कृषि उपज विपणन समिति यानी एपीएमसी के पूर्व चेयरमैन राजेंद्र शर्मा ने कहा कि लॉकडाउन के कारण किसानों को सब्जियों का बाजिव भाव नहीं मिला, जिससे उन्होंने बाद में फसलें कम लगाईं, लिहाजा आवक कम है. उन्होंने भी कहा कि बरसात में फसल खराब होने से भी कीमतें तेज हुई हैं.

अगस्त में खुदरा दाम (रुपये प्रति किलो)
आलू- 30-40, फूलगोभी-120, बंदगोभी-40, टमाटर-50-60, प्याज : 20-25, लौकी/घिया-30, भिंडी-30, खीरा-30, कद्दू-30, बैगन-40, शिमला मिर्च-80, तोरई-30, करेला-40, परवल-60-70, लोबिया-40, अरबी-40, अदरख-200, गाजर-40, मूली-70, चुकंदर-40.

यह भी पढ़ें: अर्थव्यवस्था के 4 बड़े मुद्दों पर काम कर रही बीजेपी, सरकार कर सकती है बड़े बदलाव 

जून में सब्जियों के खुदरा दाम (रुपये प्रति किलो)
आलू : 20-25, गोभी : 30-40, टमाटर : 20-30, प्याज : 20-25, लौकी/घिया-20, भिंडी-20, खीरा-20, कद्दू : 10-15, बैगन-20, शिमला मिर्च-60, तोरई-20, करेला : 15-20.

First Published : 10 Aug 2020, 07:51:33 AM

For all the Latest Business News, Commodity News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो