News Nation Logo
Banner

पिछले 10 साल में कितने बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, कितना लगता है टैक्स, सारी जानकारी एक क्लिक पर

विपक्ष लगातार पेट्रोल-डीजल की कीमतों में महंगाई को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार के ऊपर हमलावर है. बता दें कि फरवरी 2011 में विदेशी बाजार में कच्चे तेल का दाम 97.91 डॉलर प्रति बैरल के आस-पास था.

Written By : साजिद अशरफ | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 15 Feb 2021, 04:50:38 PM
पेट्रोल-डीजल (Petrol Diesel Price)

पेट्रोल-डीजल (Petrol Diesel Price) (Photo Credit: newsnation)

highlights

  • फरवरी 2011 में विदेशी बाजार में कच्चे तेल का दाम 97.91  डॉलर प्रति बैरल के आस-पास था
  • आज अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत 63.52  डॉलर प्रति बैरल के आस-पास  है

नई दिल्ली:

पेट्रोल-डीजल (Petrol Diesel Price) की कीमतों में आग लगी हुई है. देश के कुछ शहरों में पेट्रोल 100 रुपये प्रति लीटर के पार चला गया है. विपक्ष लगातार पेट्रोल-डीजल की कीमतों में महंगाई को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार के ऊपर हमलावर है. बता दें कि फरवरी 2011 में विदेशी बाजार में कच्चे तेल का दाम 97.91  डॉलर प्रति बैरल के आस-पास था. वहीं आज अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत 63.52  डॉलर प्रति बैरल के आस-पास दर्ज की जा रही है. आंकड़ों की बात करें तो फरवरी 2011 के मुकाबले आज कच्चा तेल 34.39 डालर प्रति बैरल सस्ता हो गया है. गौरतलब है कि पेट्रोल और डीजल की एक्साइज ड्यूटी में प्रति एक रुपये की बढ़ोतरी से केंद्र सरकार के खजाने में 13,000 रुपये से 14,000 करोड़ रुपये सालाना की बढ़ोतरी होती है. बता दें कि सरकार ने 2011-12  में एक्साइज ड्यूटी से 68,000 करोड़ की कमाई हासिल की थी. वहीं 2019 -20  में सरकार ने एक्साइज ड्यूटी से 2,17,463  करोड़ की रिकॉर्ड कमाई की थी. 

यह भी पढ़ें: Pradhan Mantri Awas Yojana: इस राज्य में एक लाख परिवारों का पूरा होगा घर का सपना

पेट्रोल-डीजल पर प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी 2011 Vs 2021
जानकारी के मुताबिक 2011  में पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी 14.35 रूपये प्रति लीटर थी, जबकि 2021  में पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी 32.98 रूपये प्रति लीटर है. बता दें कि 2011  की तुलना में 2021  तक पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी में 18.63 रूपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी हो चुकी है. 2011  में डीजल पर एक्साइज ड्यूटी 4.60 रुपये प्रति लीटर थी, जबकि 2021  में डीजल पर एक्साइज ड्यूटी 31.83 रुपये प्रति लीटर है. 2011  के मुकाबले 2021  तक डीजल पर एक्साइज ड्यूटी में 27.23 रूपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी हो चुकी है.

पिछले 10 साल में चार महानगरों में पेट्रोल के रेट में क्या आया अंतर

शहर  15 फरवरी 2011 15 फरवरी 2021 बढ़ोतरी
दिल्ली   58.37 रुपये  88.99 रुपये 30.62 रुपये
कोलकाता 62.5 रुपये    90.25 रुपये     27.75 रुपये
मुंबई 63.08 रुपये  95.46 रुपये  32.38 रुपये
चेन्नई  61.93 रुपये 91.19 रुपये    29.26 रुपये 

पिछले 10 साल में चार महानगरों में डीजल के रेट में क्या आया अंतर 

शहर     15 फरवरी 2011    15 फरवरी 2021  बढ़ोतरी
दिल्ली       41.12 रुपये     79.35 रुपये     38.23 रुपये
कोलकाता     43.57 रुपये    82.94 रुपये  39.37 रुपये 
मुंबई  45.84 रुपये     86.34 रुपये     40.5 रुपये
चेन्नई  43.8 रुपये        84.44 रुपये   40.64 रुपये

यह भी पढ़ें: आम आदमी के लिए बड़ी खबर, जनवरी में 2.03 फीसदी रही थोक महंगाई दर

जरूरत का 85 फीसदी से ज्यादा तेल इंपोर्ट करता है भारत 
गौरतलब है कि भारत अपनी जरूरत का 85 फीसदी से ज्यादा तेल इंपोर्ट करता है. इसमें से सबसे ज्यादा कच्चा तेल मध्यूपूर्व के देशों से इंपोर्ट किया जाता है. भारत सबसे ज्यादा सऊदी अरब, ईराक, इरान, UAE, कुवैत ,नाइजीरिया, अमेरिका से तेल का इंपोर्ट करता है. पिछले साल जुलाई में भारत ने सबसे ज्यादा इराक से इंपोर्ट किया था, उसके बाद सऊदी अरब और  संयुक्त अरब अमीरात (UAE) से कच्चा तेल इंपोर्ट किया था. जानकारों का कहना है कि कच्चे तेल की कीमत में 10 डॉलर प्रति बैरल की बढ़ोतरी होने से पेट्रोल और डीजल के दाम में 5.8 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी होती है. 

First Published : 15 Feb 2021, 04:50:38 PM

For all the Latest Business News, Commodity News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.