News Nation Logo

Cotton Price Today: भारत का कॉटन एक्सपोर्ट 42 लाख गांठ के पार, पाकिस्तान को भी रूई की जरूरत

Cotton Price Today: 2019 में भारत सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के फैसले लिए जाने के बाद पाकिस्तान ने भारत के साथ अपना व्यापार संबंध खत्म कर दिया था.

IANS | Updated on: 01 Apr 2021, 11:53:30 AM
Cotton Price Today

Cotton Price Today (Photo Credit: IANS )

highlights

  • वैश्विक बाजार में बीते एक महीने में कॉटन के दाम में करीब 12 फीसदी की गिरावट
  • चालू सीजन में भारत से निर्यात 60 लाख गांठ तक होने की उम्मीद की जा रही है

मुंबई :

Cotton Price Today: भारत ने चालू कॉटन सीजन 2020-21 (अक्टूबर-सितंबर) के आरंभिक छह महीने में 42 लाख गांठ (एक गांठ में 170 किलो) कॉटन का निर्यात कर लिया है और 30 सितंबर तक निर्यात 60 लाख गांठ तक होने की उम्मीद की जा रही है. उधर, पाकिस्तान को भी कॉटन और यार्न की जरूरत है और वह लंबे अरसे के बाद भारत से आयात (Cotton Import) बहाल करना चाहता है. पड़ोसी मुल्क बांग्लादेश और चीन भारत से कॉटन के बड़े आयातक हैं. करीब दो साल पहले तक पाकिस्तान भी भारतीय कॉटन के बड़े खरीदारों में शुमार था, लेकिन 2019 में भारत सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के फैसले लिए जाने के बाद पाकिस्तान ने भारत के साथ अपना व्यापार संबंध खत्म कर दिया था.

यह भी पढ़ें: वीकली एक्सपायरी पर 359 प्वाइंट बढ़कर खुला सेंसेक्स, निफ्टी 14,800 के करीब

एक महीने में कॉटन के दाम में करीब 12 फीसदी की गिरावट
वैश्विक बाजार में बीते एक महीने में कॉटन के दाम में करीब 12 फीसदी की गिरावट आने के बाद भारतीय कॉटन अब दुनिया के अन्य देशों के उत्पाद से सस्ता नहीं रह गया है, फिर भी चालू सीजन में निर्यात 60 लाख गांठ तक होने की उम्मीद की जा रही है. कॉटन एसोसिएशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष अतुल गणत्रा ने आईएएनएस से कहा कि वैश्विक बाजार में नरमी आने के बाद आईसीई के रेट और भारत में कॉटन के भाव में कोई अंतर नहीं रह गया है, इसलिए निर्यात मांग थोड़ी सुस्त है. उन्होंने कहा कि चालू सीजन में 31 मार्च तक देश से कॉटन का निर्यात 42 लाख गांठ के पार चला गया है और सीजन के आखिर तक 60 लाख गांठ तक का निर्यात होने की संभावना है क्योंकि पांच लाख गांठ निर्यात के अनुबंध पहले ही हो चुके हैं.

बांग्लादेश ने इस साल अब तक 16 लाख गांठ कॉटन भारत से खरीदा
भारत ने चालू सीजन में सबसे ज्यादा कॉटन बांग्लादेश को बेचा है. कॉटन एसोसिएशन के आंकड़ों के अनुसार, बांग्लादेश ने इस साल अब तक 16 लाख गांठ कॉटन भारत से खरीदा है. वहीं, चीन को भारत ने करीब 12 लाख गांठ कॉटन निर्यात किया है। वहीं, वियतनाम और इंडोनेशिया को क्रमश: पांच-पांच लाख गांठ कॉटन का निर्यात हो चुका है। बाकी चार लाख गांठ कॉटन भारत ने अन्य देशों को निर्यात किया है. कॉटन एसोसिएशन ऑफ इंडिया के आकलन के अनुसार, चालू कॉटन सीजन 2020-21 (अक्टूबर-सितंबर) में देश में रूई का कुल उत्पादन 358.50 लाख गांठ है जबकि पिछले साल का बकाया स्टॉक 125 लाख गांठ और आयात करीब 12 लाख गांठ को मिलाकर कुल आपूर्ति 495.50 लाख गांठ रहेगी, जबकि घरेलू खपत मांग 330 लाख गांठ और निर्यात 60 लाख गांठ होने के बाद 30 सितंबर 2021 को 105.50 लाख गांठ कॉटन अगले सीजन के लिए बचा रहेगा.

यह भी पढ़ें: Gold Silver Rate Today 1 April 2021: सोने-चांदी में आज निवेश का मौका?, क्या करें निवेशक, जानिए यहां

अंतर्राष्ट्रीय वायदा बाजार इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज (आईसीई) पर बीते एक मार्च को कॉटन का भाव 92.77 सेंट प्रति पौंड तक उछला था, जबकि 31 मार्च 2021 को 80.77 सेंट प्रति पौंड पर बंद हुआ. भारतीय वायदा बाजार मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (एमसीएक्स) पर बीते सत्र में कॉटन का भाव 21,450 रुपये प्रति गांठ पर बंद हुआ था.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 01 Apr 2021, 10:37:41 AM

For all the Latest Business News, Commodity News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो