News Nation Logo

Air India ने 30 अप्रैल तक घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों की बुकिंग बंद की, जानें क्यों

सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया (Air India) ने शुक्रवार को कहा कि उसने 30 अप्रैल तक टिकट की बुकिंग बंद कर दी है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 04 Apr 2020, 01:27:38 AM
air india

एयर इंडिया (Air India) (Photo Credit: फाइल फोटो)

दिल्ली:

सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया (Air India) ने शुक्रवार को कहा कि उसने 30 अप्रैल तक टिकट की बुकिंग बंद कर दी है. कंपनी ने कहा कि वह 14 अप्रैल को लॉकडाउन की समाप्त हो रही अवधि के बाद निर्देश का इंतजार कर रही है. कंपनी के एक प्रवक्ता ने कहा कि अब बुकिंग शुक्रवार से 30 अप्रैल तक बंद कर दी गयी है. उसने कहा कि हम 14 अप्रैल के बाद के निर्देश का इंतजार कर रहे हैं.

यह भी पढे़ंः कोरोना वायरस के कारण राज्यसभा की 18 सीटों पर चुनाव स्थगित रहेगा: इलेक्शन कमीशन

हालांकि, नागर विमानन सचिव प्रदीप सिंह खरोला ने बृहस्पतिवार को कहा था कि विमानन कंपनियां 14 अप्रैल के बाद की तारीख के लिए टिकट बुकिंग शुरू करने के लिए स्वतंत्र हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के संक्रमण पर रोकथाम के लिए 25 मार्च से 21 दिनों के लॉकडाउन (बंद) की घोषणा की है. लॉकडाउन 14 अप्रैल को समाप्त होने वाला है. इसके मद्देनजर 14 अप्रैल तक घरेलू व अंतरराष्ट्रीय उड़ानें निलंबित हैं.

आपको बता दें कि मोदी सरकार ने कई फार्मास्युटिकल कंपनियों को दस करोड़ से ज्यादा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन गोलियों का ऑर्डर दिया है, जिसकी सिफारिश आईसीएमआर ने कोविड-19 के खिलाफ काम कर रहे स्वास्थ्यकर्मियों के लिहाज से ऐहतियातन इस्तेमाल के लिए की है. एक अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने मलेरिया के इलाज में इस्तेमाल होने वाली इस दवाई का इस्तेमाल कोरोना वायरस के रोगियों या संदिग्धों की देखभाल में लगे लोगों के लिए करने की सिफारिश की है.

घरों में रह रहे उन लोगों के लिए भी दवा की सिफारिश की गयी है जिनमें बीमारी के लक्षण नहीं हैं लेकिन जो संक्रमितों के संपर्क में आए हैं. अधिकारी के मुताबिक, मलेरिया रोधी दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की 10.70 करोड़ गोलियों का ऑर्डर दिया गया है. 70 लाख से अधिक टैबलेट पहले ही खरीदी जा चुकी हैं.

यह भी पढे़ंः जेपी नड्डा का सोनिया गांधी पर निशाना, कहा- आंखों पर राष्ट्र विरोध की पट्टी बंधी है, क्योंकि...

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने हाल ही में कोरोना वायरस के संक्रमण से ग्रस्त लोगों के लिए हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन का इस्तेमाल एजिथ्रोमाइसिन के साथ करने की सिफारिश की थी.मंगलवार को ‘कोविड-19 के क्लीनिकल प्रबंधन’ पर जारी संशोधित दिशानिर्देशों में मंत्रालय ने कहा कि 12 साल से कम उम्र के बच्चों, गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए फिलहाल इस दवा की सिफारिश नहीं की जाती.

For all the Latest Business News, Commodity News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 03 Apr 2020, 11:36:42 PM