News Nation Logo

गरीब लोग इस पूंजीवादी बजट को खारिज कर देंगे: चिदंबरम

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने कहा कि आज का बजट भाषण किसी वित्त मंत्री द्वारा पढ़ा गया अब तक का सबसे पूंजीवादी भाषण था.

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 01 Feb 2022, 07:42:12 PM
nirmala sitaraman

निर्मला सीतारमण, वित्त मंत्री (Photo Credit: Twitter Handle)

नई दिल्ली:  

बजट पेश होने के बाद से सत्तापक्ष और विपक्ष के नेता अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे हैं. सत्तापक्ष के नेता जहां बजट को अभूतपूर्व और दूरदर्शी बता रहे हैं वहीं विपक्ष बजट को दिशाहीन और कॉरपोरेटपरस्त बता रहा है. पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने कहा कि, “आज का बजट भाषण किसी वित्त मंत्री द्वारा पढ़ा गया अब तक का सबसे पूंजीवादी भाषण था. 'गरीब' शब्द पैरा 6 में केवल दो बार आता है और हम वित्त मंत्री को यह याद रखने के लिए धन्यवाद देते हैं कि इस देश में गरीब लोग हैं; लोग इस पूंजीवादी बजट को खारिज कर देंगे.” 

राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि, “यह बजट सिर्फ अमीरों के लिए है; गरीबों के लिए कुछ नहीं है. यह अर्जुन और द्रोणाचार्य का बजट है, एकलव्य का नहीं, (महाभारत से). उन्होंने क्रिप्टोकरेंसी का भी उल्लेख किया, जिसका कोई कानून नहीं है, न ही इस पर पहले चर्चा की गई है; बजट से उनके दोस्तों को फायदा हुआ.” 

कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद केसी वेणुगोपाल ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि यह बजट देश की मौजूदा आर्थिक स्थितियों का सामना करने के लिए उपयुक्त होगा. बजट के माध्यम से कानून के बिना वे इसे (क्रिप्टो) वैध कर रहे हैं, यह एक सही संसदीय प्रथा नहीं है.

कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने कहा कि वित्त मंत्री ने गरीबों, युवाओं और बेरोजगारों या यहां तक कि महंगाई के लिए एक शब्द भी नहीं कहा. डिजिटल करेंसी पर कोई कानून नहीं है लेकिन अब इसके लिए टैक्स है. 

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि, “यह दिशाहीन बजट है. इसमें किसानों, महिलाओं और युवाओं को देने के लिए कुछ भी नहीं है. यह बजट किसानों की आय दोगुनी करने और स्मार्ट सिटी परियोजना के बारे में कुछ नहीं कहता.” 

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि, “काम-कारोबार सब हुआ चौपट…ऐतिहासिक मंदी,लाखों की नौकरी कर गयी चट…आम जनता की आमदनी गयी घट…बेकारी-बीमारी में बैंकों में जमा निकली सारी बचत…अब लोगों की जेब काटने के लिए आया भाजपा का एक और बजट… उप्र से भाजपा के दुखदायी युग का अंत शुरू हो रहा है! यूपी कहे आज का नहीं चाहिए भाजपा”

First Published : 01 Feb 2022, 05:54:14 PM

For all the Latest Business News, Budget News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.