News Nation Logo
Banner

Budget 2020: क्या होती है हलवा रस्म और क्यों है महत्वपूर्ण, जानिए इससे जुड़ी खास बातें

Budget 2020: वित्त मंत्री (Finance Minister) निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) 1 फरवरी को बजट पेश करेंगी.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 23 Jan 2020, 08:45:17 AM
हलवा रस्म (Halwa Ceremony)

हलवा रस्म (Halwa Ceremony) (Photo Credit: ANI)

नई दिल्ली:

Budget 2020: केंद्र की नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार 1 फरवरी को बजट (Union Budget 2020-21) पेश करेगी. वित्त मंत्री (Finance Minister) निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) बजट पेश करेंगी. बता दें कि बजट पेश करने से पहले कई परंपराओं का पालन किया जाता है. उसी परंपरा में से एक है हलवा की रस्म. दरअसल, बजट पेश करने से हर बार हलवा रस्म का आयोजन किया जाता है.

यह भी पढ़ें: Budget 2020: आम आदमी को बजट समझाने के लिए मोदी सरकार की ये है योजना

क्यों होती है हलवा रस्म
हमारे यहां परंपरा है कि कोई भी शुभ काम करने से पहले मीठे से इसकी शुरुआत की जानी चाहिए. यही वजह से बजट को शुरू करने से पहले हलवा रस्म की शुरुआत की गई और अब यह एक परंपरा बन चुकी है. परंपरा के अनुसार एक बड़ी कढ़ाई में हलवा को तैयार किया जाता है. रस्म के तहत वित्त मंत्री के द्वारा हलवा और अन्य मिठाइयां मंत्रालय के अधिकारियों और अन्य स्टॉफ को परोसा जाता है. इस प्रक्रिया के पूरा होने के बाद नॉर्थ ब्लॉक के बेसमेंट में जहां बजट की छपाई और अन्य काम होता है वहां पर बजट को तैयार करने में शामिल कर्मचारी कैद रहते हैं. दरअसल, हलवा रस्म के बाद बजट को तैयार करने के लिए कर्मचारियों को मंत्रालय में ही रहना पड़ता है और उन्हें बजट पेश होने तक अपने परिवार से दूर रहना पड़ता है.

यह भी पढ़ें: Budget 2020: बजट में होम लोन के ब्याज पर टैक्स को लेकर हो सकता है बड़ा फैसला

संचार माध्यमों का नहीं कर सकते कर्मचारी
बजट को तैयार करने के दौरान कर्मचारी ईमेल, मोबाइल फोन और अन्य किसी भी संचार माध्यम के जरिए परिवार से संपर्क नहीं कर सकते हैं. उन्हें इसके लिए अनुमति नहीं होती है. उस प्रक्रिया के दौरान मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों को ही घर जाने की अनुमति रहती है.

अभी भी जारी है हलवा बनाने की परंपरा
बजट के दस्तावेजों की प्रिटिंग से पहले हलवा बनाने (Halwa Ceremony) की प्रक्रिया शुरू होती है. परंपरा के अनुसार हलवा बनाने वाली कढ़ाई में वित्त मंत्री से घी डलवाया जाता है. वित्त मंत्री द्वारा कढ़ाई में हलवा बनाने की शुरुआत की जाती है. परंपरा के मुताबिक वित्त मंत्री के द्वारा मौजूद कर्मचारियों को हलवा परोसा जाता है.

यह भी पढ़ें: Budget 2020: आसान भाषा में समझें कैसे बनता है देश का आम बजट

बजट तक कमरे में बंद रहते हैं उससे जुड़े लोग
हलवा रस्म के बाद बजट को तैयार करने वाले कर्मचारियों को मंत्रालय में ही रहना पड़ता है. संसद में बजट पेश होने तक बजट से जुड़े सभी कर्मचारी परिवार से दूर रहते हैं. इस दौरान कर्मचारियों को ईमेल, मोबाइल या अन्य किसी भी संचार माध्यमों से परिवार से संपर्क करने की अनुमति नहीं होती है. मंत्रालय के सिर्फ वरिष्ठ अधिकारियों को ही घर जाने की अनुमति रहती है.

First Published : 20 Jan 2020, 11:58:50 AM

For all the Latest Business News, Budget News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो