News Nation Logo
Banner

यस बैंक (Yes Bank) के खाताधारक नहीं निकाल सकेंगे 50 हजार रुपये से ज्यादा पैसे, RBI ने लगाई रोक

RBI के ताजा फैसले के मुताबिक यस बैंक के ग्राहक 1 महीने में यस बैंक से 50 हजार से ज़्यादा की रकम नहीं निकाल सकते हैं. RBI के ऐलान के बाद बैंक और ATM पर लंबी लाइनें लग गई हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 06 Mar 2020, 11:06:25 AM
yes bank share

यस बैंक (Yes Bank) (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

रिजर्व बैंक (Reserve Bank) ने यस बैंक (Yes Bank) से पैसा निकालने की लिमिट तय कर दी है. RBI के ताजा फैसले के मुताबिक यस बैंक के ग्राहक 1 महीने में यस बैंक से 50 हजार से ज़्यादा की रकम नहीं निकाल सकते हैं. RBI के ऐलान के बाद बैंक और ATM पर लंबी लाइनें लग गई हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 50 हजार की निकासी पर रोक के बाद ग्राहक घबराएं हुए हैं. बता दें कि करीब 6 महीने पहले PMC बैंक के ऊपर RBI ने ऐसी ही सख्ती दिखाई थी. गौरतलब है कि 16 साल बाद किसी बड़े बैंक पर RBI की सख्ती दिखाई पड़ रही है. 2004 में ग्लोबल ट्रस्ट बैंक पर रिजर्व बैंक ने पाबंदी लगाई थी.

यह भी पढ़ें: यस बैंक (Yes Bank) में SBI की हिस्सा खरीदने की खबर पर BSE ने मांगा स्पष्टीकरण

जानिए यस बैंक के बारे में

  • यस बैंक निजी क्षेत्र का चौथा सबसे बड़ा बैंक
  • देशभर में यस बैंक की शाखाएं हैं
  • देश में करीब 1,000 शाखाएं
  • देश में करीब 1,800 ATM
  • देश में यस बैंक के 2,77,867 ग्राहक
  • यस बैंक का मुख्यालय मुंबई में है
  • 2004 में हुई थी यस बैंक की स्थापना

यह भी पढ़ें: Sensex Open Today: शेयर बाजार में हाहाकार, सेंसेक्स करीब 1,400 प्वाइंट लुढ़का, यस बैंक 25 फीसदी टूटा

RBI को क्यों उठाना पड़ा यह कदम

  • NPA बढ़ने की वजह से RBI ने यस बैंक की कमान अपने हाथ में ली
  • बैंक के निदेशक मंडल को 30 दिन के लिए भंग किया
  • RBI के दबाव में चेयरमैन राणा कपूर ने पद छोड़ा
  • बैंक की देखरेख के लिए प्रशासक नियुक्त हुई
  • प्रशांत कुमार बैंक के नए प्रशासक बनाए गए
  • खाता धारकों के पैसों को डूबने से बचाने के लिए एक्शन

यह भी पढ़ें: Gold Price Today: सोने और चांदी में आज आ सकती है भयंकर तेजी, देखिए बेहतरीन ट्रेडिंग टिप्स

यस बैंक के मार्केट कैप में भारी गिरावट

यस बैंक के डूबने का खतरा बढ़ गया है. बैंक पर कर्ज का बोझ बढ़ रहा था. बैंक पर 2 लाख 41 हजार 500 करोड़ रुपये का कर्ज है. यही वजह है कि बैंक के शेयर लगातार गिर रहा है. 15 महीने में निवेशकों को 90 फीसदी का नुकसान हो चुका है. 2018 से बैंक के NPA और बैलेंसशीट में गड़बड़ी देखने को मिल रही है. RBI के दबाव में चेयरमैन राणा कपूर ने पद छोड़ा था. 2018 में यस बैंक का मार्केट कैप 80 हजार करोड़ का था. मौजूदा समय में मार्केट कैप 9 हजार करोड़ तक कम हो चुका है.

First Published : 06 Mar 2020, 10:39:14 AM

For all the Latest Business News, Banking News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.