News Nation Logo

लक्ष्मी विलास बैंक (Lakshmi Vilas Bank) में हिस्सा खरीद के लिए इस विदेशी कंपनी ने जताई रुचि

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अमेरिका के फंड हाउस टिल्डन पार्क कैपिटल मैनेजमेंट ने लक्ष्मी विलास बैंक (Lakshmi Vilas Bank) में हिस्सा खरीदने की इच्छा जताई है. इसके लिए उसने रिजर्व बैंक (RBI) से संपर्क किया है.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 11 Feb 2020, 12:54:49 PM
लक्ष्मी विलास बैंक (Lakshmi Vilas Bank)

लक्ष्मी विलास बैंक (Lakshmi Vilas Bank) (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

लक्ष्मी विलास बैंक (Lakshmi Vilas Bank-LVB) में हिस्सा खरीद को लेकर खबरें आ रही हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अमेरिका के फंड हाउस टिल्डन पार्क कैपिटल मैनेजमेंट (Tilden Park Capital Management) ने लक्ष्मी विलास बैंक में हिस्सा खरीदने की इच्छा जताई है. इसके लिए उसने रिजर्व बैंक (RBI) से संपर्क किया है. दरअसल, LVB निवेशकों की तलाश कर रहा है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हाल ही में टिल्डन पार्क कैपिटल मैनेजमेंट के वरिष्ठ अधिकारियों ने रिजर्व बैंक से संपर्क किया था.

यह भी पढ़ें: युवाओं के लिए खुशखबरी, भारत में यह विदेशी कंपनी देने जा रही है 75,000 नौकरियां

हिस्सा खरीद के लिए रिजर्व बैंक से लेनी होती है मंजूरी
गौरतलब है कि किसी भी निजी बैंक में 5 फीसदी या उससे अधिक हिस्सेदारी खरीदने के लिए रिजर्व बैंक से मंजूरी लेनी होती है. रिजर्व बैंक की ओर से निवेशकों को इस शर्त पर हिस्सा खरीद की मंजूरी दी जाती है कि उन्हें लॉक इन पीरियड खत्म होने के बाद होल्डिंग को घटाकर 15 फीसदी के स्तर पर लाना जरूरी होगा. दरअसल, इंडियाबुल्स हाउसिंग के साथ अपने विलय को मंजूरी नहीं मिलने के बाद लक्ष्मी विलास बैंक यह सुनिश्चित करना चाहता है कि इस बार निवेशक को रेग्युलेटर को मंजूरी मिल जाए.

यह भी पढ़ें: Gold Rate Today: MCX पर सोना और चांदी में आज क्या करें निवेशक, देखें टॉप ट्रेडिंग कॉल्स

RBI ने विलय के लिए नहीं दी थी मंजूरी
RBI ने 9 अक्टूबर को अपने पत्र के जरिए सूचित किया था कि इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड और इंडियाबुल्स कमर्शियल क्रेडिट लिमिटेड के लक्ष्मी विकास बैंक (LVB) के साथ विलय के आवेदन को मंजूरी नहीं दिया जा सकता. गौरतलब है कि लक्ष्मी विलास बैंक ने 7 मई 2019 को प्रस्तावित विलय के लिए RBI से मंजूरी मांगी थी.

यह भी पढ़ें: Sensex Open Today 11 Feb: शेयर बाजार में जोरदार गिरावट, सेंसेक्स 350 प्वाइंट से ज्यादा लुढ़का

बता दें कि RBI ने सितंबर में लक्ष्मी विलास बैंक को प्रॉम्प्ट करेक्टिव एक्शन (PCA) फ्रेमवर्क में डाल दिया था. PCA फ्रेमवर्क में डाले जाने की वजह से बैंक ना तो नए कर्ज जारी कर सकता है और ना ही नई ब्रांच खोल सकता है. RBI ने यह कार्रवाई रेलिगेयर फिनवेस्ट लिमिटेड (RFL) के आरोप पर कार्रवाई की थी. लक्ष्मी विलास बैंक के ऊपर आरोप था कि बैंक ने रेलिगेयर फिनवेस्ट लिमिटेड के 790 करोड़ रुपये की फिक्स्ड डिपॉजिट (Fixed Deposit) में भारी गड़बड़ी की थी.

First Published : 11 Feb 2020, 12:54:49 PM

For all the Latest Business News, Banking News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो