News Nation Logo
Banner

एसबीआई ने दी खुशखबरी, आरबीआई की चौथी कटौती से बैंक ने कर्ज किया सस्‍ता

देश के सबसे बड़े कर्जदाता भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने बुधवार को बेंचमार्क कर्ज दरों में 15 बीपीएस (आधार अंकों) की कटौती की है.

News Nation Bureau | Edited By : Drigraj Madheshia | Updated on: 07 Aug 2019, 10:31:48 PM
प्रतिकात्‍मक फोटो

मुंबई:  

देश के सबसे बड़े कर्जदाता भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने बुधवार को बेंचमार्क कर्ज दरों में 15 बीपीएस (आधार अंकों) की कटौती की है. इससे पहले भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए प्रमुख ब्याज दरों मे उम्मीद से ज्यादा 35 बीपीएस की कटौती की थी. SBI की फंड आधारित ब्याज दरें (एमसीएलआर) की एक साल की मार्जिनल लागत 10 अगस्त से 8.40 फीसदी से घटकर 8.25 फीसदी हो जाएगी.

SBI ने कहा, "आरबीआई द्वारा चालू वित्तवर्ष (2020) में रेपो दर में की गई 85 बीपीएस का पूरा लाभ SBI अपने कैश क्रेडिट और 1,00,000 की सीमा से अधिक वाले ओवरड्राफ्ट उपभोक्ताओं को देने जा रही है."

यह भी पढ़ेंः Top 10: सरहद पार सुषमा के लिए प्यार और जानें घाटी की सड़कों पर क्यों घूमे डोभाल, देखें Video

आरबीआई ने बुधवार को ब्याज दरों में कटौती की. यह इस साल लगातार चौथी कटौती है. केंद्रीय बैंक ने कहा कि सरकारी बैंक अपने ग्राहकों को प्रमुख ब्याज दरों में कटौती का पूरा लाभ नहीं दे रहे हैं. आरबीआई के गर्वनर शक्तिकांत दास ने कहा कि रेपो रेट में 35 बीपीएस की कटौती के बाद बैंकों के कर्ज उठाव में सुधार हुआ है.

यह भी पढ़ेंः कंगाल पाकिस्‍तान ने कश्‍मीर पर निकाली खीझ, 370 हटाए जाने के बाद भारत के खिलाफ लिये ये 3 फैसले

रिजर्व बैंक (RBI) ने लगातार चौथी बार ब्याज दरों में कटौती कर दी है. रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में 0.35 फीसदी की कटौती की है. RBI ने रेपो रेट 5.75 फीसदी से घटाकर 5.40 फीसदी कर दिया है. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने जून, अप्रैल और फरवरी में भी ब्याज दरों में कटौती की थी. वहीं रिवर्स रेपो रेट भी 5.50 फीसदी से घटाकर 5.15 फीसदी कर दिया है. मार्जिनल स्टैंडिंग फेसिलिटी रेट (MSFR) और बैंक रेट 6 फीसदी से घटाकर 5.65 फीसदी कर दिया है.

यह भी पढ़ें: खुशखबरी, जल्‍द ही 24 घंटे मिलेगी एनईएफटी की सेवा

ब्याज दरों में कटौती का फायदा आम लोगों को मिलेगा

ब्याज दरों में कटौती का फायदा आम लोगों को मिलने जा रहा है. अब उन्हें हर महीने कम EMI देनी पड़ेगी. रेपो रेट में कटौती का फायदा उन लोगों को मिलेगा, जिनका होम लोन या ऑटो लोन चल रहा है. दरअसल रेपो रेट कटौती के बाद बैंकों पर होम या ऑटो लोन पर ब्‍याज दर कम करने का दबाव बनेगा. बता दें कि आरबीआई के नए नियमों के बाद बैंकों को रेपो रेट कटौती का फायदा आम लोगों को देना ही पड़ेगा.

यह भी पढ़ें: Credit Policy: रिजर्व बैंक (RBI) ने ब्याज दरें 0.35 फीसदी घटाई, सस्ते होंगे होमलोन, पर्सनल लोन

हर महीने होमलोन की EMI पर 1,101 रुपये का फायदा
मान लीजिए आपने 20 साल के लिए 50 लाख रुपये का लोन लिया है. पुरानी दर 8.5 फीसदी के मुताबिक आपकी हर महीने की EMI 43,391 रुपये बनती थी, लेकिन ब्याज दरें घटने के बाद नई दर 8.15 फीसदी के हिसाब से अब EMI के रूप में 42,290 रुपये ही चुकाने होंगे. मतलब कि आपको हर महीने 1,101 रुपये का फायदा होने जा रहा है.

(इनपुटः IANS से भी)

First Published : 07 Aug 2019, 09:09:10 PM

For all the Latest Business News, Banking News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.