News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

अगर आपका बैंक खाता PNB में है तो जान लें ये बातें, कई नियमों में बदलाव

पंजाब नेशनल बैंक की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, बैंक ने बचत खातों, लॉकर्स, डिमांड ड्राफ्ट और करंट अकाउंट जैसी सुविधाओं के नियमों में भी बदलाव किया है.

News Nation Bureau | Edited By : Satyam Dubey | Updated on: 10 Jan 2022, 09:18:55 PM
Punjab National Bank

Punjab National Bank (Photo Credit: File Photo)

नई दिल्ली:

नए साल की खुशियों के बीच पंजाब नेशनल बैंक ने अपने ग्राहकों को बड़ा झटका दिया है. चौकिए मत पीएनबी ने सामान्य बैंकिंग परिचालन से संबंधित विभिन्न योजनाओं के लिए लगने वाले शुल्क को बढ़ा दिया है. यह बदलाव 15 जनवरी 2022 से लागू हो जाएगा. पंजाब नेशनल बैंक की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, बैंक ने बचत खातों, लॉकर्स, डिमांड ड्राफ्ट और करंट अकाउंट जैसी सुविधाओं के नियमों में भी बदलाव किया है. 

आपको बता दें कि अब बचत खाते में कम बैलेंस होने पर लगने वाला चार्ज दोगुना हो जाएगा. इसके अलावा डिमांड ड्राफ्ट को कैंसिल कराने पर आपको अब 50 रुपये ज्‍यादा देने होंगे. पीएनबी ने शहरी इलाकों में रहने वाले ग्राहकों के लिए अपने बचत खाते में कम से कम 10,000 रुपये का बैलेंस होना अनिवार्य कर दिया है. इससे पहले राशि 5000 रुपये थी. कम बैलेंस होने पर लगने वाला चार्ज भी दोगुना हो गया है. पहले यह 300 रुपये था. अब 600 हो गया है.

जबकि ग्रामीण इलाकों के ग्राहकों को मिनिमम बैलेंस से कम राशि होने पर 200 रुपये की जगह 400 रुपये प्रति तिमाही चार्ज देना होगा.

इसके अलावा पीएनबी ने लॉकर शुल्क में भी बदलाव किया है. एक्स्ट्रा लार्ज साइज के लॉकरों को छोड़कर सभी टाइप के लॉकर पर अब ज्यादा शुल्क देना होगा. शहरी और महानगरों में लॉकर के चार्ज को 500 रुपये तक बढ़ाया गया है. पीएनबी ने ग्रामीण इलाको में छोटे साइज के लॉकर का चार्ज एक हजार रुपये से बढ़ाकर 1,250 रुपये कर दिया है. जबकि शहरी इलाके में छोटे लॉकर का चार्ज 1,500 से बढ़ाकर 2 हजार रुपये कर दिया है. 

नए नियम के मुताबिक अगर आप पीएनबी में करंट अकाउंट खुलवाते हैं तो 14 दिन और अगर एक साल के अंदर बंद कराते हैं तो 800 रुपये का शुल्क देना पड़ेगा. जबकि पहले यह शुल्क 600 रुपये था. 

यह भी पढ़ें: लड़की हूं लड़ सकती हूं कैंपेन के काउंटर में BJP ने उतारी MP की महिला ब्रिगेड

इसके साथ ही एक फरवरी से आपकी किसी किस्त या निवेश का डेबिट पैसा न होने से फेल होता है तो इसके लिए 250 रुपये देने होंगे. जो पहले 100 रुपये लगते थे. वहीं, आप डिमांड ड्राफ्ट को कैंसिल कराते हैं तो अब 150 रुपए देने होंगे. इससे पहले यह शुल्क 100 रुपये ही था.

First Published : 10 Jan 2022, 09:18:55 PM

For all the Latest Business News, Banking News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.