News Nation Logo
Banner

SBI के खाताधारकों के लिए बड़ी खुशखबरी, इस फायदे को लेने के लिए नहीं करना होगा लंबा इंतजार

बैंकों के द्वारा MCLR से जुड़े लोन को एक साल की रिसेट फ्रिक्वेंसी के साथ ऑफर किया जाता है. यही वजह है कि कर्ज लेने वाले उपभोक्ताओं को MCLR में कटौती का फायदा EMI में कटौती का फायदा मिलने में अधिक समय लगता है.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 05 Sep 2020, 04:36:42 PM
State Bank of India-SBI

भारतीय स्टेट बैंक (State Bank of India-SBI) (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (State Bank of India) ने अपने 44 करोड़ से अधिक खाताधारकों को बड़ी राहत देने की घोषणा की है. SBI ने ऐलान किया है कि उपभोक्ता अब एक साल की प्रतीक्षा किए बिना ब्याज दर में होने वाली समीक्षा का फायदा उठा पाएंगे. SBI ने MCLR रिसेट फ्रिक्वेंसी में 1 साल से घटाकर 6 महीने कर दिया है. SBI के नए ऐलान के तहत अब ग्राहकों को ब्याज दरों में गिरावट का फायदा लेने के लिए 1 साल का इंतजार नहीं करना पड़ेगा. SBI के इस फैसले के बाद बैंक के लोने लेने वाले उपभोक्ताओं को काफी फायदा होने जा रहा है.

यह भी पढ़ें: म्यूचुअल फंड में SIP के जरिए शुरू करें निवेश, लॉन्ग टर्म में होगा बड़ा फायदा

जल्दी मिलेगा ब्याज दरों में कटौती का फायदा 
एसबीआई से होम लोन (Home Loan), ऑटो लोन (Auto Loan) और पर्सनल लोन (Personal Loan) लेने वाले उपभोक्ताओं को सीधा फायदा होने जा रहा है. बैंक ने नया नियम तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया है. गौरतलब है कि बैंकों के द्वारा MCLR से जुड़े लोन को एक साल की रिसेट फ्रिक्वेंसी के साथ ऑफर किया जाता है. यही वजह है कि कर्ज लेने वाले उपभोक्ताओं को MCLR में कटौती का फायदा EMI में कटौती का फायदा मिलने में अधिक समय लगता है. ग्राहकों को RBI द्वारा किए किए पॉलिसी रेट में कटौती का फायदा जल्दी मिलने में काफी मुशिकल होती है. 

यह भी पढ़ें: वोडाफोन आइडिया के शेयरधारकों के लिए बड़ी खबर, बढ़ सकता है शेयर प्राइस

SBI ने SMS सर्विस और मंथली एवरेज बैलेंस के गैर रखरखाव के लिए लगने वाले शुल्क को खत्म किया
बता दें कि भारतीय स्टेट बैंक (State Bank Of India) ने हाल ही में अपने ग्राहकों को बड़ी सौगात दी थी. दरअसल, SBI ने ऐलान किया था कि बैंक अब ग्राहकों से SMS सर्विस और मंथली एवरेज बैलेंस (Monthly Average Balance) के गैर रखरखाव के लिए लगने वाले शुल्क को नहीं लेगा. एसबीआई ने इसको लेकर ट्वीट किया था. एसबीआई ने ट्वीट के जरिए कहा था कि बैंक के बचत खाता धारकों के लिए अच्छी खबर है. ग्राहकों को अब एसएमएस सेवा और मासिक न्यूनतम राशि नहीं रखने पर शुल्क नहीं देना होगा. क्या सिर्फ इंटरनेट बैंकिंग और चेक की सुविधा वाले बचत खाता धारकों के लिए ही बैंक ने यह कदम उठाया है या फिर सभी बचत खाता धारकों के लिए यह सुविधा है. इस पर बैंक का कहना है कि बैंक ने सभी बचत खाता धारकों के लिए यह कदम उठाया है.

First Published : 05 Sep 2020, 02:37:20 PM

For all the Latest Business News, Banking News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो