News Nation Logo

पीएमसी बैंक घोटाला मामले के बीच ऋण गारंटी निगम को मिले 14,100 करोड़ रुपये के दावे

पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक (पीएमसी) में हुए घोटाले तथा अन्य कई सहकारी बैंकों में डिफाल्ट के बढ़ते मामलों के बीच निक्षेप बीमा एवं प्रत्यय गारंटी निगम को 14,100 करोड़ रुपये के दावे प्राप्त हुए हैं. रिजर्व बैंक ने इसकी जानकारी दी है.

Bhasha | Updated on: 30 Dec 2019, 04:00:00 AM
पीएमसी बैंक घोटाला मामले के बीच रिण गारंटी निगम को मिले 14,100 करोड़

मुंबई:

पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक (पीएमसी) में हुए घोटाले तथा अन्य कई सहकारी बैंकों में डिफाल्ट के बढ़ते मामलों के बीच निक्षेप बीमा एवं प्रत्यय गारंटी निगम को 14,100 करोड़ रुपये के दावे प्राप्त हुए हैं. रिजर्व बैंक ने इसकी जानकारी दी है. रिजर्व बैंक ने शुक्रवार को जारी वित्तीय स्थिरता रिपोर्ट में यह जानकारी दी है. इसके साथ ही केन्द्रीय बैंक ने कहा कि इन सभी दावों पर एक साथ कार्रवाई की जरूरत नहीं होगी इनमें से कुछ की स्थिति में सुधार भी हो सकता है.

रिपोर्ट के अनुसार, कमजोर बैंक जिनके लिये निर्देश दिये गये हैं अथवा जिन्हें बंद करने के आदेश हैं अथवा परिसमापन से गुजर रहे बैंकों सभी की यदि बात की जाती है तो सितंबर अंत तक निक्षेप बीमा एवं प्रत्यय गारंटी निगम (डीआईसीजीसी) पर 14,098 करोड़ रुपये के दावे का बोझ होगा. रिजर्व बैंक ने रिपोर्ट में कहा, ‘यह जानने की जरूरत है कि निर्देश प्राप्त बैंक एक अवधि में परिसमापन के लिये जायेंगे और ये सभी एक साथ नहीं जायेंगे. कमजोर आर्थिक स्थिति वाले बैंकों में सुधार भी हो सकता है.’

इस भी पढ़ें:मुंबई पुलिस ने PMC Bank मामले में कोर्ट में आरोप पत्र दाखिल किया

इस साल जनवरी से अब तक करीब 30 सहकारी बैंकों को रिजर्व बैंक की निगरानी में लाया जा चुका है. डीआईसीजीसी को मिले दावों के अनुसार, इनमें से 3,414 करोड़ रुपये राज्य सहकारी बैंकों तथा जिला केंद्रीय सहकारी बैंकों के हैं. इसके अलावा 10,684 करोड़ रुपये के दावे पीएमसी समेत शहरी सहकारी बैंकों के हैं. भाषा सुमन महाबीर महाबीर

First Published : 30 Dec 2019, 04:00:00 AM

For all the Latest Business News, Banking News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

PMC PMC Bank Scam Mumbai