News Nation Logo
Banner

Coronavirus Impact: फेडरल रिजर्व (Federal Reserve) ने नीतिगत ब्याज दरें 1 फीसदी घटाईं

फेडरल रिजर्व (Federal Reserve) की अल्पकालिक धन के लिए ब्याज दर अब 0-0.25% के स्तर पर आ गयी है. अमेरिका दो सप्ताह में नीतिगत ब्याज दरों में कुल मिला कर डेढ़ प्रतिशत की कमी करने के साथ ऋण के लिए धन की उपलब्धता बढाने के कई उपाय कर चुका है.

Bhasha | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 16 Mar 2020, 03:21:18 PM
us federal reserve

फेडरल रिजर्व (Federal Reserve) (Photo Credit: फाइल फोटो)

वाशिंगटन:  

अमेरिका के केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व (Federal Reserve) ने कोरोना वायरस (Coranavirus) से अर्थव्यवस्था (Economy) पर पड़ने वाले असर को दूर करने तथा निवेशकों का भरोसा कायम रखने के लिये रविवार को नीतिगत ब्याज दर (Interest Rate) में एक प्रतिशत की बड़ी कटौती कर के इसे करीब करीब शून्य प्रतिशत कर दिया है. इसके अलावा उसने 700 अरब डॉलर के बॉन्ड खरीदने का भी निर्णय लिया है.

यह भी पढ़ें: यस बैंक (Yes Bank) के ग्राहकों के लिए बड़ी खुशखबरी, बुधवार से फिर से शुरू हो जाएंगी सभी बैंकिंग सेवाएं

ब्याज दर अब 0-0.25% के स्तर पर आई

फेडरल रिजर्व अल्पकालिक धन के लिए ब्याज दर अब 0-0.25% के स्तर पर आ गयी है. अमेरिका दो सप्ताह में नीतिगत ब्याज दरों में कुल मिला कर डेढ़ प्रतिशत की कमी करने के साथ ऋण के लिए धन की उपलब्धता बढाने के कई उपाय कर चुका है. दुनिया के अन्य प्रमुख केंद्रीय बैंकों ने भी अपनी दरों में कटौती की हैं. कोरोना वायरस से दुनिया भर में 1,56,000 से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं. इसके कारण दुनिया भर में 5,800 से अधिक लोगों की मौत भी हो चुकी है. सिर्फ अमेरिका में इससे 3,700 से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं तथा 68 लोगों की मौत हो चुकी है. इस महामारी के कारण वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला बाधित हो चुकी है। इसका वैश्विक अर्थव्यवस्था पर गंभीर असर पड़ने लगा है. वैज्ञानिक, शोध संस्थान और दवा कंपनियां इस बीमारी का इलाज खोजने की कोशिशों में लगी हैं.

यह भी पढ़ें: AGR Dues: वोडाफोन आइडिया (Vodafone Idea) ने किया 3,354 करोड़ रुपये का अतिरिक्त भुगतान

2 हफ्ते से भी कम समय में नीतिगत ब्याज दर में दूसरी आपातकालीन कटौती

फेडरल रिजर्व ने ऐसे में अर्थव्यवस्था को सहारा देने के लिये दो सप्ताह से भी कम समय में नीतिगत ब्याज दर में दूसरी आपातकालीन कटौती की है. इस दूसरी कटौती के बाद अमेरिका में नीतिगत ब्याज दर 2008 के आर्थिक संकट के समय के स्तर पर आ गयी है. नयी नीतिगत ब्याज दरें शून्य से 0.25 प्रतिशत के बीच आ गयी हैं. फेडरल रिजर्व ने कहा कि कोरोना वायरस के कारण अर्थव्यवस्था को लेकर भरोसे में आयी गिरावट की जब तक भरपाई नहीं हो जाती है, नीतिगत ब्याज दर को इसी स्तर पर बनाये रखा जाएगा. उसने कहा कि कोरोना वायरस ने समाज को नुकसान पहुंचाया है और अमेरिका समेत कई देशों में आर्थिक गतिविधियों में रुकावटें पैदा की है.

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार के लिए राहत, थोक महंगाई (Wholesale Inflation) घटकर 2.26 फीसदी पर आई

फेडरल रिजर्व के गवर्नर जेरोम पावेल ने कहा कि इसका वैश्विक वित्तीय परिस्थितियों पर भी असर हुआ है. उसने कहा कि कोरोना वायरस का निकट भविष्य में आर्थिक गतिविधियों पर असर पड़ेगा और इससे आर्थिक परिदृश्य को लेकर जोखिम उपस्थित हुआ है. हमने इसे लेकर ठोस प्रतिक्रिया दी है और न सिर्फ ब्याज दर कम किया है बल्कि तरलता को लेकर भी कदम उठाये हैं. फेडरल रिजर्व की लगातार आलोचना करने वाले राष्ट्रपति ट्रंप ने भी इस कदम का स्वागत किया.

यह भी पढ़ें: चालू वित्त वर्ष के पहले 11 महीने में सोने के इंपोर्ट (Gold Import) में आई बड़ी गिरावट, जानिए क्यों

उन्होंने कहा कि मैं फेडरल रिजर्व को बधाई देता हूं. बाजार में लोग इससे उत्साहित होंगे. हमने नीतिगत दरों को लगभग शून्य कर दिया है. फेडरल रिजर्व ने इसके साथ ही व्यापक स्तर पर खरीद की भी घोषणा की. कंपनियों तथा लोगों को बैंक आर्थिक मदद मुहैया करा सकें, इसके लिये फेडरल रिजर्व ने पात्र बैंकों को अल्पकालिक आधार पर कर्ज सुविधा देने का विकल्प भी खोल दिया है. साथ ही, फेडरल रिजर्व ने बैंकों के लिये आरक्षित नकदी का प्रावधान भी हटा दिया है, ताकि वे इस नकदी का इस्तेमाल कर सकें.

First Published : 16 Mar 2020, 03:21:18 PM

For all the Latest Business News, Banking News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.