News Nation Logo
Banner

Coronavirus (Covid-19): बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank Of Baroda) के रिटेल ग्राहकों के लिए खुशखबरी, शुरू की ये बड़ी सुविधा

Coronavirus (Covid-19): बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank Of Baroda) ने अपने मौजूदा खुदरा ऋण ग्राहकों (गृह ऋण, वाहन ऋण और संपत्ति के खिलाफ ऋण) के लिए

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 08 Apr 2020, 02:52:15 PM
bankofbaroda

बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank Of Baroda) (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

Coronavirus (Covid-19): कोविड-19 महामारी के मद्देनजर सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank Of Baroda) ने अपने मौजूदा खुदरा ऋण ग्राहकों (गृह ऋण, वाहन ऋण और संपत्ति के खिलाफ ऋण) के लिए "बड़ौदा व्यक्तिगत ऋण कोविड-19" लॉन्च किया है. यह मौजूदा ग्राहकों को लिक्विडिटी में मदद करेगा. ग्राहक 5 लाख रुपये की अधिकतम सीमा के साथ यह व्यक्तिगत ऋण लेने के लिए अपनी मौजूदा शाखाओं से संपर्क कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन के बाद नया बिजनेस शुरू करने के लिए कैसे मिलेगा सस्ता पर्सनल लोन, जानिए यहां

ग्राहक 30 सितंबर, 2020 तक उठा सकते हैं फायदा

यह एक विशेष व्यक्तिगत ऋण है, जिसके लिए बैंक (BoB) ने नियमित व्यक्तिगत ऋण योजनाओं की तुलना में ब्याज दर को बहुत कम रखा है और ग्राहक 30 सितंबर, 2020 तक इस योजना के तहत लाभ प्राप्त कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें: एयरलाइन कंपनियों के ऊपर रद्द उड़ानों के टिकट का पैसा वापस नहीं करने का आरोप

भारतीय स्टेट बैंक ने सेविंग अकाउंट पर ब्याज दर कम किया

देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (State Bank-SBI) ने सभी बचत खातों (Saving Account) पर ब्याज दर को तीन प्रतिशत से घटाकर 2.75 प्रतिशत वार्षिक करने की घोषणा की. नयी ब्याज दरें 15 अप्रैल से लागू होंगी. बैंक ने एक बयान में कहा कि बैंकों के पास पर्याप्त नकदी होने की वजह से उसने बचत जमा ब्याज दर में 0.25 प्रतिशत की कटौती का निर्णय किया है. इसी के साथ बैंक ने 10 अप्रैल से सभी अवधि के ऋणों पर कोष की सीमांत लागत आधारित ऋण ब्याज दर (MCLR) में 0.35 प्रतिशत कटौती करने की घोषणा की.

यह भी पढ़ें: SBI ने सेविंग अकाउंट पर घटा दिया ब्याज, लेकिन लोन कर दिया सस्ता, पढ़ें पूरी खबर

1 साल के लोन की ब्याज दर 7.40 फीसदी होगी

बयान के मुताबिक एमसीएलआर में कटौती के बाद एक वर्ष की अवधि के ऋण पर ब्याज दर 7.75 प्रतिशत से घटकर 7.40 प्रतिशत वार्षिक हो जाएगी. अधिकांश खुदरा ऋणों के लिए एक वर्ष की अवधि के कर्ज पर दर को पैमाना माना जाता है. बैंक ने कहा कि इससे 30 वर्ष की अवधि वाले आवास ऋण की मासिक किस्त प्रति एक लाख रुपये कर्ज पर 24 रुपये कम हो जाएगी. (इनपुट एजेंसी)

First Published : 08 Apr 2020, 02:52:15 PM

For all the Latest Business News, Banking News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो