News Nation Logo

Banks Merger: जानिए आखिर क्यों बैंकों के विलय से नाराज चल रहे हैं कुछ लोग, 1 अप्रैल को आ सकता है विलय का नोटिफिकेशन

Banks Merger: केंद्र सरकार ने पंजाब नेशनल बैंक (PNB), यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया (United Bank Of India) और ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (Oriental Bank Of Commerce) का विलय करने की घोषणा की है.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 20 Feb 2020, 12:38:13 PM
यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया (United Bank of India)

यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया (United Bank of India) (Photo Credit: फाइल फोटो)

कोलकाता:

Banks Merger: यूनाइटेड बैंक के उपभोक्ताओं और शेयरधारकों समेत सभी जुड़े पक्ष इस बात से निराश हैं कि विलय के बाद सामने आने वाली संयुक्त इकाई में उनकी पुरानी पहचान को जगह नहीं दी गयी है. एक अधिकारी ने बृहस्पतिवार को यह बताया. केंद्र सरकार ने पंजाब नेशनल बैंक (Punjab National Bank), यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया (United Bank of India) और ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (Oriental Bank of Commerce) का विलय करने की घोषणा की है.

यह भी पढ़ें: अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए चीन ने घटाईं ब्याज दरें, भारत पर होगा ये बड़ा असर

SBI के बाद दूसरा सबसे बड़ा बैंक होगा
विलय के बाद सामने आने वाला निकाय भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के बाद देश का दूसरा सबसे बड़ा बैंक होगा. यह विलय एक अप्रैल से प्रभावी होने वाला है. यूनाइटेड बैंक के एक अधिकारी ने कहा कियूनाइटेड बैंक का बंगाल के इतिहास से पुराना जुड़ाव रहा है. इसकी स्थापना 1914 में हुई और तब इसे कोमिला बैंकिंग कॉरपोरेशन कहा जाता था. बाद में यह 1950 में तीन अन्य बैंकों के विलय के बाद यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया लिमिटेड बन गया. जब 1969 में बैंकों को राष्ट्रीयकृत किया गया, इसका नाम यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया हो गया. अधिकारी ने कहा कि चूंकि यूनाइटेड बैंक लंबे समय से बंगाल की पहचान के साथ जुड़ा रहा है, अत: संयुक्त इकाई में इसकी पहचान को जगह नहीं मिलने से इससे जुड़े लोगों में निराशा है.

यह भी पढ़ें: मार्केट में आने जा रहा है इस बड़ी सरकारी कंपनी का IPO, मोटी कमाई का मौका

पिछले साल अगस्त में वित्त मंत्री ने किया था विलय का ऐलान
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 1 अप्रैल को विलय की प्रक्रिया का नोटिफिकेशन जारी हो सकता है. इस नोटिफिकेशन के जारी होने के बाद 10 बैंकों का 4 बैंकों में विलय हो जाएगा. विलय की प्रक्रिया के बाद देश में सरकारी बैंकों की संख्या घटकर 12 रह जाएगी. सरकारी बैंकों के विलय की घोषणा पिछले साल अगस्त में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने की थी.

यह भी पढ़ें: Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana: किसानों के अच्छे दिन के लिए फसल बीमा योजना में बदलाव को मंज़ूरी

विलय के बाद 12 सरकारी बैंक रह जाएंगे

  1. पंजाब नेशनल बैंक+यूनाइटेड बैंक+ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (पंजाब नेशनल बैंक)
  2. केनरा बैंक+सिंडिकेट बैंक (केनरा बैंक)
  3. इंडियन बैंक+इलाहाबाद बैंक (इंडियन बैंक)
  4. यूनियन बैंक+आंध्रा बैंक+कॉरपोरेशन बैंक (यूनियन बैंक)
  5. बैंक ऑफ इंडिया
  6. बैंक ऑफ बड़ौदा
  7. बैंक ऑफ महाराष्ट्र
  8. सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया
  9. इंडियन ओवरसीज बैंक
  10. पंजाब एंड सिंध बैंक
  11. भारतीय स्टेट बैंक (SBI)
  12. यूको बैंक (UCO Bank)

(इनपुट भाषा)

For all the Latest Business News, Banking News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 20 Feb 2020, 12:33:07 PM