News Nation Logo
Banner

25 से चार दिन बंद रहेंगे बैंक (Bank), तो निपटा लें पहले ही सारे काम वर्ना होंगे परेशान

हड़ताल (Bank Strike) और फिर शनिवार-रविवार को सामान्य छुट्टी (Holiday) होने के कारण बैंक से जुड़े कामकाज पूरी तरह से ठप रहेंगे. जाहिर तौर पर इसका सबसे ज्यादा खामियाजा आम लोगों को ही उठाना पड़ेगा.

By : Nihar Saxena | Updated on: 13 Sep 2019, 11:43:04 AM
सांकेतिक चित्र

सांकेतिक चित्र

highlights

  • दो दिन की हड़ताल फिर शनिवार-रविवार की छुट्टी होने से 25 से 4 दिन बंद रहेंगे बैंक.
  • 10 बैंकों का विलय कर 4 बैंक बनाने के फैसले के विरोध में हैं बैंक संगठन.
  • इसके अलावा वेतन-भत्तों में वृद्धि और पेंशन समेत और कई हैं मांगें.

नई दिल्ली:

मोदी 2.0 (Modi 2.0) सरकार (Narendra Modi Government) के 10 बैंकों (Banks) के विलय (Merger) के फैसले के विरोध में बैंक संगठनों (Bank Union) ने झंडा बुलंद कर लिया है. 25 सितंबर की आधी रात से बैंकिंग उद्योग (Banking Industry) के चार बड़े कर्मचारी संगठनों ने देश व्यापी हड़ताल (Strike) आहूत की है. हड़ताल और फिर शनिवार-रविवार को सामान्य छुट्टी (Holiday) होने के कारण बैंक से जुड़े कामकाज पूरी तरह से ठप रहेंगे. जाहिर तौर पर इसका सबसे ज्यादा खामियाजा आम लोगों को ही उठाना पड़ेगा. खासकर ऐसे लोगों को जो आर्थिक लेनदेन (Financial Transactions) के लिए बैंकों पर ही निर्भर रहते हैं. ऐसे में भलाई इसी में है कि बैंक से जुड़े सारे महत्वपूर्ण काम 25 सितंबर तक ही निपटा लिए जाए अन्यथा सामने आने वाली समस्याओं के लिए आप किसी और को दोष नहीं दे सकेंगे.

यह भी पढ़ेंः  अब अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने भी भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर दिया बड़ा बयान

दो दिन हड़ताल और दो दिन छुट्टी
चार बैंक संगठनों द्वारा आहूत हड़ताल की वजह से इस महीने लगातार चार दिन बैंकों में कोई कामकाज नहीं होगा. 26 व 27 सितंबर को दो दिवसीय राष्ट्रीय हड़ताल है, जिसमें सभी बैंकों के अधिकारी शामिल होंगे. इसके अलावा 28 सितंबर को भी बैंक में काम नहीं होंगे, क्योंकि महीने के अंतिम शनिवार को बैंकों में छुट्टी रहती है और 29 सितंबर को बैंक में रविवार की छुट्टी रहेगी. यही नहीं, अगर बैंक संगठनों की मांगे नहीं मानी जाती हैं तो नवंबर के दूसरे सप्ताह से राष्ट्रीयकृत बैंकों के कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जा सकते हैं.

यह भी पढ़ेंः VIDEO: पाकिस्‍तानी संसद में इमरान खान के मंत्रियों को पड़े लात-घूसे, पिल पड़े थे विपक्षी दलों के नेता

ये यूनियन हैं हड़ताल में शामिल
ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कन्फेडरेशन (एआईबीओसी), ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन (एआईबीओए), इंडियन नेशनल बैंक ऑफिसर्स कांग्रेस (आईएनबीओसी) और नेशनल ऑर्गेनाइजेशन ऑफ बैंक ऑफिसर्स (एनओबीओ) हड़ताल में शामिल होंगे. एआईबीओसी (चंडीगढ़) के महासचिव दीपक कुमार शर्मा ने यह जानकारी दी है. सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के विलय के विरोध और अपनी अन्य मांगों के समर्थन में बैंक कर्मियों ने हड़ताल पर जाने का फैसला किया है.

यह भी पढ़ेंः PUBG Mobile का नया सीजन '0.14.5' आज हो रहा रिलीज, जानें नए Edition में क्‍या होंगे खास

इन बैंकों का होगा विलय
सरकार ने 10 राष्ट्रीयकृत बैंकों का विलय कर 4 बड़े बैंक बनाने की घोषणा की है. इसके तहत यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया और ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स का विलय पंजाब नेशनल बैंक में किया जाएगा. इसके बाद अस्तित्व में आने वाला बैंक सार्वजनिक क्षेत्र का दूसरा सबसे बड़ा बैंक होगा. इसी तरह सिंडिकेट बैंक का विलय केनरा बैंक में किया जाएगा. इलाहाबाद बैंक का विलय इंडियन बैंक में किया जाना है. आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक को यूनियन बैंक आफ इंडिया में मिलाया जाएगा.

First Published : 13 Sep 2019, 11:43:04 AM

For all the Latest Business News, Banking News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.