News Nation Logo
Banner

टाटा मोटर्स ने BS6 कारों के लिए बनाई ये खास योजना, फरवरी से करेगी शुरुआत

टाटा मोटर्स (Tata Motors) ने BS-6 उत्सर्जन मानक के अनुकूल 100 से अधिक मॉडल और उनके एक हजार से अधिक संस्करण बाजार में उतारने की योजना बनाई है.

Bhasha | Updated on: 10 Jan 2020, 11:53:36 AM
टाटा मोटर्स (Tata Motors)

टाटा मोटर्स (Tata Motors) (Photo Credit: फाइल फोटो)

दिल्ली:

टाटा मोटर्स (Tata Motors) की आने वाले समय में भारत स्टेज-छह (BS-6) उत्सर्जन मानक के अनुकूल 100 से अधिक मॉडल और उनके एक हजार से अधिक संस्करण बाजार में उतारने की योजना है. कंपनी अगले महीने से इसकी शुरुआत करेगी. कंपनी ने बृहस्पतिवार को एक बयान में कहा कि वह आगामी ऑटो एक्सपो (Auto Expo) में 14 व्यावसायिक और 12 यात्री वाहन प्रदर्शित करने वाली है. इसके अलावा कंपनी की चार वैश्विक प्रदर्शन की भी योजना है.

यह भी पढ़ें: Budget 2020: BJP नेताओं से वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पूछा, कैसा होना चाहिए बजट

100 से अधिक मॉडल लॉन्च करने की योजना
टाटा मोटर्स के अध्यक्ष एवं मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी राजेंद्र पेतकर ने ण्क बयान में कहा कि जनवरी 2020 के बाद हम एक हजार से अधिक संस्करणों के साथ 100 से अधिक अग्रणी मॉडल उतारने वाले हैं. टाटा मोटर्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं प्रबंध निदेशक गुंतर बुत्शेक ने अगले महीने ऑटो एक्सपो को लेकर कंपनी की योजना के बारे में कहा कि इसमें कपंनी कनेक्टेड, इलेक्ट्रिक, शेयर्ड और सेफ पर ध्यान देगी.

यह भी पढ़ें: भारत की जीडीपी (GDP) को लेकर विश्व बैंक (World Bank) ने जताया ये बड़ा अनुमान

इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए शुल्क घटाना जरूरी, महिंद्रा का बड़ा बयान
महिंद्रा एंड महिंद्रा (Mahindra & Mahindra) ने कहा है कि देश में इलेक्ट्रिक वाहनों (Electric Vehicles) को बढ़ावा देने के लिए प्राथमिक क्षेत्र के तौर पर वित्तपोषण देने और चुनिंदा कल-पुर्जों पर शुल्क घटाने की जरूरत है. कंपनी ने कहा कि टाटा (Tata), हुंडई (Hyundai), एमजी मोटर्स (MG Motors) और मारूति सुजूकी (Maruti Suzuki) जैसी अन्य कंपनियां ई-वाहन श्रेणी में उतर रही हैं, इससे इलेक्ट्रिक वाहनों की स्वीकार्यता बढ़ेगी.

यह भी पढ़ें: 'दलहन की कमी को पूरा करने के लिए मटर, उड़द इंपोर्ट पर रोक हटाने की जरूरत'

कंपनी ने कहा कि सरकार ने ई-वाहन श्रेणी को बढ़ावा देने के लिये अपने हिस्से का काम कर दिया है. अब यह विनिर्माताओं की जिम्मेदारी है कि वे इलेक्ट्रिक वाहनों की कीमतें कम करने की दिशा में काम करें, जिससे इन वाहनों को निजी उपयोग के अनुकूल बनाया जा सके. कंपनी के प्रबंध निदेशक पवन गोयनका (Pawan Kumar Goenka) ने इस मौके पर कहा कि सरकार को जो करना था, वह कर चुकी है. इलेक्ट्रिक वाहनों का सपना हालिस करना अब बहुत दूर नहीं है क्योंकि अन्य कंपनियां भी इस श्रेणी में उतर रही हैं. टाटा ने अपने वाहनों की घोषणा कर दी है, हुंदै ने कोना की पेशकश की है, एमजी ने भी इलेक्ट्रिक वाहन उतारे हैं, मारूति सुजूकी इलेक्ट्रिक वाहनों की बातें कर रही है, इससे हम आने वाले समय में बाजार में अधिक इलेक्ट्रिक वाहन देखेंगे.

First Published : 10 Jan 2020, 11:53:36 AM

For all the Latest Auto News, Cars News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×