News Nation Logo
Banner

महाराष्ट्र में फैसले का दिन: राज्यपाल ने स्वीकार किया देवेंद्र फणडवीस का इस्तीफा

महाराष्ट्र में 9 नवंबर से पहले-पहले सरकार का गठन होना है. लेकिन बीजेपी-शिवसेना अभी भी ये तय नहीं पाईं है कि सरकार कौन बनाएगा

By : Aditi Sharma | Updated on: 09 Nov 2019, 12:01:23 AM
देवेंद्र फडणवीस और उद्धव ठाकरे

देवेंद्र फडणवीस और उद्धव ठाकरे (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

महाराष्ट्र में आज फैसला का दिन है. ऐसे में उठापटक भी तेज हो गई है. दरअसल महाराष्ट्र में 9 नवंबर से पहले-पहले सरकार का गठन होना है. लेकिन बीजेपी-शिवसेना अभी भी ये तय नहीं पाईं है कि सरकार कौन बनाएगा. वहीं दूसरी तरफ शिवसेना को अपने विधायकों के टूटने का डर भी सता रहा है. इसी डर के चलते विधायकों को होटल में शिफ्ट कर दिया गया है. खबरों की मानें तों देर रात आदित्य ठाकरे रंगशाद में विधायकों से मिलने पहुंचे थे. ये वही जगह है जहां विधायकों को रखा गया है.

राज्यपाल कोश्यारी ने देवेंद्र फडणवीस को महाराष्ट्र के कार्यवाहक मुख्यमंत्री के तौर पर कामकाज करते रहने को कहा है.

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019 में बीजेपी का स्ट्राइक रेट 70 फीसदी रहा- फडणवीस

शिवसेना ने हमसे 50-50 फॉर्मूले पर बातचीत नहीं की- फडणवीस

शिवसेना नेताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए उल्टी-सीधी बातें कहीं- देवेंद्र फडणवीस

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019 में हमें उम्मीद से कम सीटें मिलीं- देवेंद्र फडणवीस

देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि शिवसेना के साथ 2.5-2.5 साल के मुख्यमंत्री कार्यकाल के लिए कोई बातचीत ही नहीं हुई थी.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र की जनता का आभार व्यक्त किया.

इस्तीफा देने के बाद देवेंद्र फडणवीस प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं.

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने देवेंद्र फडणवीस का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है.

देवेंद्र फणडवीस ने महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को इस्तीफा सौंप दिया है.

शिवसेना ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को चिट्ठी लिखकर विधायकों के लिए सुरक्षा की मांग की है.

सूत्रों ने जानकारी दी है कि देवेंद्र फडणवीस राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंपने के लिए पहुंचे हैं.

राज्यपाल से मिलने के लिए देवेंद्र फडणवीस के साथ आशीष शेलार और रामदास कदम भी मौजूद हैं.

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलने पहुंचे मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस.

महाराष्ट्र में जारी घमासान के बीच कांग्रेस विधायकों को राजस्थान भेजा जा रहा है. ये विधायक उदयपुर-जयपुर में रुकेंगे. इनसे प्रभारी अविनाश पांडेय और राजीव सातव कॉर्डिनेट कर रहे है.

इस बीच शिवसेना नेता संजय राउत ने भी एक ट्वीट किया है. उन्होंने अटल बिहारी वाजपेयी की एक कविता को ट्वीट किया है. इसी के साथ उन्होंने गीता का एक श्लोक भी लिखा है. उन्होंने लिखा है, आग्नेय परीक्षा की इस घड़ी में- आइए, अर्जुन की तरह उद्घोष करें : ‘‘न दैन्यं न पलायनम्.’’- अटल बिहारी वाजपेयी


(गीता का संदेश- *न दैन्यं न पलायनम्* अर्थात कोई दीनता नहीं चाहिए , चुनौतियों से भागना नहीं , बल्कि जूझना जरूरी है)

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दोनों पार्टियों के बीच विवाद सुलझाने के लिए फडणवीस ने उद्धव ठाकरे को फोन भी किया, लेकिन वो उनका फोन नहीं उठा रहे.

First Published : 08 Nov 2019, 08:28:21 AM

For all the Latest Elections News, Assembly Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.