News Nation Logo
Banner

पीएम मोदी की चुनौती- है दम तो घोषणा पत्र में लिखें 370 को वापस लाने की बात, बदल देंगे फैसला

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी महाराष्ट्र में चुनाव प्रचार के लिए पहुंचे हैं. फिलहाल वह जलगांव में जनसभा को संबोधित कर रहे हैं.

By : Aditi Sharma | Updated on: 13 Oct 2019, 01:17:03 PM
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Photo Credit: फोटो- ट्विटर)

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी महाराष्ट्र में चुनाव प्रचार के लिए पहुंचे हैं. फिलहाल वह जलगांव में जनसभा को संबोधित कर रहे हैं. इस दौरान उन्होंने कहा, हम सभी आने वाले 5 वर्षों के लिए देवेंद्र फडणवीस जी की अगुवाई में महायुति सरकार के लिए एक बार फिर आप सबका आशीर्वाद लेने आये हैं. साथ ही आपने लोकसभा चुनाव में हमें जो आशीर्वाद दिया उसके लिए भी आभार जताने आये हैं. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, अब नए भारत का नया जोश, दुनिया को भी दिखने लगा है. आज दुनिया में नए भारत का जो जलवा है ,उसके पीछे सिर्फ और सिर्फ मेरे 130 करोड़ देशवासी हैं.

पीएम मोदी ने कहा, आज नया भारत ठान चुका है कि उसे अतीत के अनावश्यक बंधनों में बंधकर नहीं रहना है. आज नया भारत खुद के वर्तमान को मजबूत तक कर ही रहा है, खुद का भविष्य भी तय कर रहा है. बीते कुछ समय से हम लगातार चुनौतियों को चुनौती दे रहे हैं. आज भारत की आवाज दुनिया की हर ताकत मजबूती से सुन रही हैं. दुनिया का हर देश आज भारत के साथ खड़ा हैं, हमारे साथ मिलकर आगे बढ़ने के लिए उत्साहित है.

पीएम मोदी ने कहा, 5 अगस्त को आपकी भावना के अनुरूप बीजेपी-NDA सरकार ने एक अभूतपूर्व फैसला लिया, जिसके बारे में सोचना तक पहले असंभव लगता था. एक ऐसी स्थिति जिसमें जम्मू कश्मीर के गरीब की, बहन-बेटियों की, दलितों और शोषितों के विकास की संभावनाएं नहीं के बराबर थी. जम्मू कश्मीर और लद्दाख सिर्फ जमीन का एक टुकड़ा नहीं है, वो मां भारती का शीष है, वहां का कण-कण भारत की शक्ति को मजबूत करता है.

यह भी पढ़ें: टिकट बंटवारे से असंतुष्ट BJP कार्यकर्ता, हरियाणा में पोस्टर लगाकर निकाल रहे भड़ास

पीएम मोदी ने कहा, आप ये जानकार हैरान हो जाएंगे कि 70 साल तक जम्मू कश्मीर और लद्दाख के हमारे वाल्मीकि भाइयों को मानवाधिकारों से भी वंचित कर दिया गया था. आज मैं भगवान वाल्मीकि के चरणों में नमन करते हुए कहता हूं कि आज मुझे अपने उन भाइयों को गले लगाने का सौभाग्य मिल रहा है. आज दुर्भाग्य के साथ कहना पड़ रहा है कि हमारे देश के कुछ राजनीतिक दल, कुछ राजनेता, राष्ट्रहित में लिए गए इस निर्णय पर राजनीति करने में जुटे हैं. 

पीएम मोदी ने कांग्रेस-एनसीपी पर निशाना साधते हुए कहा, बीते कुछ महीनों में कांग्रेस-एनसीपी के नेताओं के बयान देख लीजिए. जम्मू-कश्मीर को लेकर जो पूरा देश सोचता है, उससे एकदम उल्टा इनकी सोच दिखती है. इनका तालमेल पड़ोसी देश के साथ मिलता जुलता है.

पीएम मोदी ने कहा, ये नेता, जो अपने मगरमच्छ के आंसुओं से लोगों को बेवकूफ बनाने की कोशिश कर रहे हैं, कश्मीर में धारा 370 वापस लाएंगे? क्या भारत के लोग उन्हें अनुमति देंगे? क्या भारत के लोग इसे स्वीकार करेंगे? आज मैं विरोधियों को चुनौती देता हूं कि आपमें अगर हिम्मत है तो इस चुनाव में भी और आने वाले चुनावों में भी अपने चुनावी घोषणा पत्र में ये ऐलान करें कि हम अनुच्छेद 370 को वापस लाएंगे. 5 अगस्त के निर्णय को हम बदल देंगे. वर्ना ये घड़ियाली आंसू बहाना बंद करें. 

यह भी पढ़ें: इमरान खान का ब्लडप्रेशर बढ़ा, सोमवार को FATF की बैठक से तनाव चरम पर

पीएम मोदी ने कहा, बीते 5 सालों के हमारे काम से यहां विपक्षी भी हैरान और परेशान हैं. हमारे विरोधी भी आज ये मान रहे हैं कि बीजेपी-शिवसेना गठबंधन का नेतृत्व कर्मशील भी है और ऊर्जावान भी है. प्रधानमंत्री ने कहा, थके हुए साथी, एक दूसरे के लिए सहारा तो बन सकते हैं, महाराष्ट्र के सपनों को और यहां के युवाओं की आकांक्षाओं को पूरा करने का माध्यम नहीं बन सकते. 

पीएम मोदी ने कहा, जब यहां की गरीब बहनों के जीवन में आए बदलाव के बारे में सुनते हैं, तो हमें संतोष होता है. आज महाराष्ट्र की करीब 10 लाख बहनें हमारी सरकार की आवास योजना की वजह से अपने पक्के घर में अपने परिवार की देखभाल कर रही हैं. 

उन्होंने कहा, महाराष्ट्र और देश के हर गरीब के अपने घर के सपनें को 2022 तक पूरा करने के लिए हम पूरे सामर्थ्य के साथ जुटे हैं. 

First Published : 13 Oct 2019, 12:54:10 PM

For all the Latest Elections News, Assembly Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×